विदाई संदेश में भावुक हुए जनरल रावत, जवानों की हिम्मत को सराहा

नई दिल्‍ली। देश के पहले CDS जनरल बिपिन रावत ने आर्मी चीफ से अपने विदाई संदेश में तीन साल कार्यकाल और नई चुनौतियों के बारे में बताया। जनरल रावत ने CDS पद को केवल एक ओहदा बताते हुए कहा कि सफलता के पीछे जवानों और अधिकारियों का सहयोग होता है। विदाई संदेश में जनरल रावत ने सभी सैन्यकर्मियों और उनके परिवारवालों का शुक्रिया किया।
पहले CDS बनने पर बोले, ‘यह ओहदा भर है’
देश के पहले CDS बनने और चुनौतियों के सवाल पर आर्मी चीफ ने कहा कि यह सिर्फ एक ओहदा भर है। उन्होंने कहा, ‘कोई भी पद सिर्फ एक व्यक्ति के प्रयास से सफल नहीं हो सकता। जनरल रावत अगर आर्मी चीफ बनता है तो उसे सभी विभागों से पूरा सहयोग मिला। सबको मिलकर काम करना होगा तभी सफल होंगे।’ जिस टीम वर्क से सेना काम करती है तभी हमें सफलता मिलती है। रावत अकेले कुछ नहीं। जनरल रावत ने सभी जवानों और देशवासियों को नए साल की शुभकामनाएं दीं। 1 जनवरी 2020 को बिपिन रावत देश के पहले CDS का पद संभालेंगे।
विदाई संदेश में सबका किया शुक्रिया
विदाई संदेश से पहले जनरल रावत को साउथ ब्लॉक स्थित सेना मुख्यालय में गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया। उन्होंने भारतीय सेना के जवानों और उनके परिवारों को भविष्य की शुभकामनाएं भी दीं। जनरल रावत ने बतौर आर्मी चीफ सभी विभागों से मिले सहयोग के लिए शुक्रिया अदा किया। मीडिया के सामने बयान देते वक्त वह थोड़ा भावुक भी नजर आए। रावत ने देश की उत्तरी, पश्चिमी और पूर्वी सीमा पर मुश्किल हालात में डटे जवानों के हिम्मत की प्रशंसा की।
ठंड में डटे जवानों को किया याद
जनरल रावत ने मीडिया से कहा, ‘आपके जरिए मैं अपने सब जवानों और फौजदारों को धन्यवाद देना चाहता हूं। सब वीर माताओं और बहनों का भी शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। खास तौर पर मैं उत्तरी और पूर्वी मोर्चे पर मुश्किल परिस्थितियों में डटे सेना के अपने जवानों को बधाई देता हूं। ठंड में तैनात मेरे जवानों को मैं विशेष तौर पर शुक्रिया अदा करना चाहता हूं।’
2016 में आर्मी चीफ की कमान संभाली थी
पूर्व आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने 2016 में आर्मी चीफ का पद संभाला। जनरल रावत ने अपने लंबे करियर में कई महत्वपूर्ण मोर्चों का प्रतिनिधित्व किया और अवॉर्ड से नवाजे गए। मूल रूप से उत्तराखंड के पौरी गढ़वाल के रहनेवाले हैं देश के पहले सीडीएस।
नए आर्मी चीफ को दी बधाई
जनरल रावत ने नए आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे को बधाई देते हुए उन्हें काफी योग्य अधिकारी बताया। उन्होंने कहा ‘मुझे भरोसा है कि वह सेना को नई ऊंचाई पर ले जाएंगे। वह शानदार अधिकारी हैं। काफी योग्य हैं।’
-एजेंसियां

The post विदाई संदेश में भावुक हुए जनरल रावत, जवानों की हिम्मत को सराहा appeared first on updarpan.com.