मुंह के कैंसर की निशानी जानकर हो जाएंगे हैरान , जरुर पढ़े

जनता से रिश्ता वेबडेस्क।  मुंह का कैंसर भारत में आम पाए जाने वाले 3 मुख्य कैंसरों में से एक है तथा इसके बारे में लोगों को जानकारी होना बहुत जरूरी है। ज्यादातर केसों में इसका देर से पता चलता है, जिसके कारण सही इलाज नहीं मिल पाता। मुंह के कैंसर से होने वाली मौतों की दर को गत 3 दशकों से नहीं बदला जा सका है लेकिन अगर इसका पहली स्टेज पर पता लगा लिया जाए तो 80% कैंसर रोगियों को बचाया जा सकता है। इसकी प्राथमिक जांच के बारे में जानकारी की कमी इलाज में देरी के लिए जिम्मेदार है।

सबसे पहले जानिए इन लोगों को होता है अधिक खतरा…
जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है उन्हें मुंह के कैंसर का खतरा अधिक होता है। इसके अलावा जो लोग सही से मुंह की सफाई न करते हैं और मुंह में होने वाली समस्याओं पर ध्यान नहीं देते हैं, उन्हें भी मुंह का कैंसर होने का खतरा अधिक रहता है। वहीं, इस बात को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है कि मुंह के कैंसर का का सबसे ज्यादा खतरा तंबाकू, सिगरेट, ई-सिगरेट, सुपारी और शराब पीने वालों को होता है। इसके अलावा….

-आनुवांशिक
-तंबाकू, सिगरेट, ई-सिगरेट, सुपारी और शराब का सेवन
– किसी खास महामारी वाले क्षेत्र के कारण मुंह का कैंसर होने की संभवाना अधिक हो जाती है।
-एच.पी.वी. वायरस खासतौर पर 16 तथा 18 साल की उम्र तक।
-विटामिन ए की कमी
-सूर्य की किरणों से होंठों का कैंसर
-दांतों की ऊपरी सख्त परत मुंह के भीतरी हिस्से में जख्मों का कारण बनती है जो धीरे-धीरे कैंसर का रूप ले लेता है।