दूसरी तिमाही के करेंट अकाउंट डेफिसिट में कमी: RBI

मुंबई। RBI की ओर से जारी आंकड़े के मुताबिक जुलाई-सितंबर तिमाही के दौरान चालू खाता घाटा घटकर GDP के 0.9 फीसद या 6.3 अरब डॉलर पर आ गया। करेंट अकाउंट डेफिसिट (CAD) के मोर्चे पर सरकार के ल‍िए यह खबर राहत भरी है।

आरबीआई के मुताबिक पिछले वित्त वर्ष की तिमाही में CAD जीडीपी के 2.9 फीसद या 19 अरब डॉलर पर रहा था। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में घाटा जीडीपी का दो फीसद यानी 14.2 अरब डॉलर रहा था। केंद्रीय बैंक की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि व्यापार घाटे में कमी के कारण CAD में यह उल्लेखनीय कमी आई है।

RBI की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है, ”व्यापार घाटा पिछले साल समान अवधि में 50 अरब डॉलर रहा था, जो इस साल घटकर 38.1 अरब डॉलर पर आ गया। इस वजह से CAD में कमी आई।”

आरबीआई ने कहा है कि व्यापार घाटे में कमी आने से चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में CAD घटकर जीडीपी का 1.5 फीसद रह गया। पिछले वित्त वर्ष की पहली पहली छमाही में चालू खाता घाटा जीडीपी का 2.6 फीसद पर था। केंद्रीय बैंक के मुताबिक वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में व्यापार घाटा कम होकर 84.3 अरब डॉलर रह गया। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह आंकड़ा 95.8 अरब डॉलर पर था।

आर्थिक मोर्चे पर मुश्किलों का सामना कर रही नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार के लिए यह काफी राहत भरी खबर है। उल्लेखनीय है कि दूसरी तिमाही में देश की जीडीपी वृद्धि दर घटकर 4.5 फीसद रह गई।

– एजेंसी

The post दूसरी तिमाही के करेंट अकाउंट डेफिसिट में कमी: RBI appeared first on updarpan.com.