साल 2020 में इन 9 राशि वालों को मिलेगा सच्चा प्यार, जानिए

मेष, सिंह, धनु राशि :-

आप अपनी नौकरी और कैरियर के लिए अधिक से अधिक समय समर्पित करने के कारण अपने प्यार और अपने साथी की अनदेखी कर सकते है । आपके साथी को काफी हद तक यह समझ आ चूका है लेकिन अब वह अधीरता के संकेत दे रहा है / दे रही है । आपके लिए यह जरुरी है की आप अपने व्यक्तिगत जीवन पर भी ध्यान दे अन्यथा यह काफी संकट में आ सकता है । अभी तक आपने इस और ध्यान नहीं दिया है , इस और अपना ध्यान दे अन्यथा काफी देर हो चुकी होगी ।रोमांस से भरपूर जीवन में आप शांति दूत बनकर घरेलू समस्या से उत्पन्न उदासी को दूर करने में सक्षम होंगे। केवल आप ही अपने रिश्तों में छाई उदासी को दूर कर सकते हैं। अपनी सही सोच के कारण ही आप समस्या को दूर करें। दूषित वातावरण को शीघ्र ही फिर से सामान्य बनाएं। यदि इसके लिए आपको अपने साथी से दूर होना पड़े तब भी उचित है।अभी का समय रोमांटिक माहौल के लिए अच्छा नही है और आपका सम्बन्ध एक लीक पर चल रहा है | शादीशुदा जोड़े अपने रिश्ते में कम होते प्यार को थोड़ी सी कोशिश करके फिर से पैदा कर सकते हैं | आपको ऐसा लग सकता है कि प्यार से आपके लिए बहुत सारी जिम्मेदारियां पैदा हो रही हैं जिससे आपको परेशानी हो रही है लेकिन धीरज रखें और इस अस्थायी चिडचिडेपन के दौर से निकलने तक शांत और सहनशील बने रहें |

कर्क, वृश्चिक, मीन राशि:-

आपकी एक ऐसी स्थिति का सामना करने की संभावना है , जिससे आपकी प्यार और प्रतिबद्धता की शक्ति का परीक्षण होगा । आपको अपने मस्तिष्क में ये ध्यान रखना होगा की आपके साथी का आप पर पूर्ण विश्वास है और आपको इस प्रेम की परीक्षा में पास होना है , ताकि ये प्रेम सम्भंध हमेशा के लिए प्रगाढ़ बने रहे । अगर आप में दया और सहानुभूति रहेंगी , तो आप किसी चीज़ का भी डटकर सामना कर सकते हो , चाहे आपका भाग्य कैसी भी पहेली आपके सामने लाये ।आपसी वार्तालाप द्वारा अपने रोमांटिक रिश्तों पर ध्यान केंद्रित करने का प्रयास करें। यदि आपसी विश्वास में कमी आती है तो आप दोनों ही जिम्मेदार होंगे। इसलिए आप यह सुनिश्चित करें कि समय-समय पर आपसी बातचीत द्वारा आपके बीच मे फैली हुई नीरसता को दूर करके अपने रिश्तों को मजबूत बनाएंगे।

मिथुन, तुला, कुंभ राशि :-

जीवन के अन्य पहलुओं से बाहरी तनाव और कार्य का तनाव आपके रिश्ते की स्थिति को प्रभावित करेगा । अगर आप अपने रिश्तो की एहमियत को समझेंगे और अपने कार्य क्षेत्र और अपने रिश्तो को अलग अलग रखेंगे तो काफी हद तक इस तूफान का आप आसानी से सामना कर लेंगे । आपका साथी काफी हद तक एक सहायक की भूमिका में आपके लिए रहेगा , लेकिन इस तथ्य और अपने साथी की उपयोगिता को जानने में आपको काफी लम्बा समय लग जायेगा ।तत्काल पैदा हुई गलतफहमियों एवं विवाद से आपको निराशा होगी। इन निराशा भरे विचारों को झटक दें, क्योंकि यह एक छोटे समय के लिए है। आपका कर्त्तव्य है कि शांतचित्त हों व विवादों में ना उलझें, क्योंकि विवाद से आप दोनों के बीच की निराशा एवं दूरियां ही बढ़ेंगी। आप अपने विचारों को अपने साथी के समक्ष रखें।आपको चाहिए कि साथी के साथ रोमांटिक मूड में बैठकर एक दूसरे की उन समस्यायों को सुनें, जिनसे वह आपको अवगत कराना चाह रहा है। शांत स्थान पर साथ बैठकर आपसी मतभेदों को मिटाएं। और अपनी भावनाओं से साथी को अवगत कराएं, जिनसे आपका आपसी रिश्ता और मजबूत हो जाये।