शिशु को ये टीके लगवाने जरूरी होते है, जानिए

आपको बता दें कि, गर्भवती महिला एंव गर्भ मे पल रहे शिशु को टिटेनस की बीमारी से बचाव के लियेटिटेनसटाक्साइड 1 / बूस्टर टीका इसके अलावा दूसरा टीका एक महिने के अंतर में लगवाना चाहिए यदि पिछले तीन साल मे दो टीके लगे हों तो सिर्फ एक टीका लगवा लेना ही सही होता है.

हेपेटाइटिस बी वायरस के संक्रमण से लीवर की सूजन आ जाती है, और पीलिया भी हो जाता है और लम्बे समय तक संक्रमण के बाद लीवर कैंसर का भी खतरा हो सकता है। यह टीका काफी आवश्यक है जो हिपेटाइटिस बी के संक्रमण से बचाव करता है.

डीपीटी टीकों की एक श्रेणी होती है, जो लोगो को होने वाले तीन संक्रामक बीमारियों डिफ्थीरिया, पर्टुसिस काली खांसी और टिटनेस से बचाने के लिए दिए जाते हैं.

पोलियो का टीका पोलियो नामक बीमारी जिसमें बच्चे अपंग हो जाते हैं, से सुरक्षा प्रदान करता है। यह टीका भी बच्चों को आवश्यक लगवाना होता है.