हैदराबाद इनकाउंटर मामले में बड़ा खुलासा, आरोपियों के शव 10 दिन बाद भी पड़े है हॉस्पिटल में

आपको बता दें कि, हैदराबाद गैंगरेप के चारों आरोपियों को 6 दिसंबर को पुलिस ने इनकाउंटर में मार गिराया था. कई संगठनों ने इस इनकाउंटर को फ़र्ज़ी बताते हुए कोर्ट में याचिका दायर की थी. इसके बाद आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट ने चारों आरोपियों के शव को 13 दिसंबर तक सुरक्षित रखने के आदेश दे रखा है. इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आखिरी आदेश आने तक शव को सुरक्षित रखा जाये। इस मामले में गठित कमेटी 6 महीने में अपनी रिपोर्ट देगी।


बॉडी की हो रही जांच-

कोर्ट के आदेश के बाद बॉडी की जांच कर पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि क्या पुलिस ने अपने बचाव में इन पर गोलियां चलाई थी या उन्हें जानबूझकर मार दिया गया.

ऐसे हुआ था इनकाउंटर-

आपको बता दें कि,  सुबह करीब साढ़े तीन बजे पुलिस अपने साथ चारों आरोपियों को घटनास्थल पर लेकर गई. पुलिस का कहना है कि इसी दौरान आरोपियों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी. पुलिस को अपने बचाव में फायरिंग करनी पड़ी जिसमे चारों मारे गए.