हमारा देश आजाद हुए अरसा बीत चुका है और हम स्वतंत्र जीवन जी रहे हैं, हम जहाँ चाहें वहां जा सकते है, लेकिन इसके बावजूद हमारे ही देश में कुछ ऐसे स्थान मौजूद हैं, जहाँ हम भारतियों का जाना ही निषेध है, आपको सुनकर आश्चर्य तो हो रहा होगा, लेकिन ये पूरी तरह सच है, आज हम आपको ऐसी ही 4 जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं।

4- फ्री कसोल कैफे, हिमाचल प्रदेश
हिमाचल प्रदेश में कसोल नाम की जगह है, जहाँ फ्री कसोल नाम का इसराइली कैफे है, साल 2015 के बाद से भारतीयों को इस कैफे में तभी प्रवेश मिलता है जब वो अपना पासपोर्ट दिखाते हैं, बिना पासपोर्ट के भारतीय इस कैफे में नही जा सकते हैं।
3- हाईलैंड लॉज, चेन्नई
चेन्नई में हाईलैंड लॉज नाम का लॉज हैं, यहाँ सिर्फ वही कस्टमर्स आ सकते हैं जिनके पास विदेश का पासपोर्ट हो, इसीलिए भारतीय इस लॉज में नही जा पाते हैं।
2- सेंटिनल द्वीप, अंडबार निकोबार
अंडबार निकोबार में उत्तरी क्षेत्र में मौजूद है सेंटिनल द्वीप, इसमें सेंटीनिलिज नाम के आदिवासी रहते हैं, ये आदिवासी नही चाहते हैं कि कोई बाहरी व्यक्ति उस द्वीप में आये, यहाँ तक कि साल 2004 में आये सुनामी में भी इन आदिवासियों ने भारतीय तटरक्षक बलों की मदद लेने से मना कर दिया था, और तीरों से उनके हेलिकॉप्टर पर भी हमला कर दिया था।
1- मलाना गांव, हिमाचल प्रदेश
हिमाचल प्रदेश का मलाना गांव बेहद खूबसूरत है, और यहाँ हर भारतीय जाना चाहता है, लेकिन इस गाँव के निवासी खुद अलेक्जेंडर के एक सैनिक का वंशज मानते हैं, जो अलेक्जेंडर के साथ आया था और घायल होकर इस गाँव में रुका था, खुद को यूनानी मानने वाले यहाँ के निवासी किसी को भी गाँव में आने नही देते हैं।