2000 से 3000 किलोमीटर की दूरी तय करेगा अग्नि-2, परिक्षण हुआ सफल

हाल ही में भारत ने 2,000 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का ओडिशा के बालासोर से सफल रात्रि-परीक्षण किया गया है. रक्षा सूत्रों ने बताया है, कि सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल का परीक्षण समन्वित परीक्षण रेंज (आईटीआर) से किया गया. 
जंहा अग्नि-2 मिसाइल का परीक्षण पिछले साल ही कर लिया गया था लेकिन रात के समय इसका परीक्षण पहली बार हुआ है. इसकी मारक क्षमता को 2,000 से बढ़ाकर 3,000 किमी तक किया जा सकता है. अग्नि-2 मिसाइल न्यूक्लियर हथियार ले जा सकने में सक्षम है.
मिली जानकारी के अनुसार हम आपको बता दें कि भारत ने इससे पहले छह फरवरी को स्वदेश निर्मित अग्नि-1 बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था. भारतीय सेना के सामरिक बल कमांड ने बालासोर स्थित अब्दुल कलाम द्वीप से इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज (आईटीआर) के लॉन्च पैड-4 से 700 किलोमीटर दूरी की मारक क्षमता वाली मिसाइल का परीक्षण किया था.
बीस मीटर लंबी अग्नि 2 बैलिस्टिक मिसाइल का वजन 17 टन है और यह अपने साथ एक हजार किलो का आयुध 2000 किलोमीटर की दूरी तक ले जा सकती है. अग्नि-2 मिसाइल को पहले ही सेना में शामिल किया जा चुका है.
अग्नि-2 की विशेषताएं:-
20 मीटर लंबी अग्नि 2 बैलिस्टिक मिसाइल का वजन 17 टन है.
अग्नि-2 एक हजार किलो का आयुध 2000 किमी की दूरी तक ले जा पाएगी.
सटीक निशाने पर पहुंचने के लिए हाईएक्युरेसी नेविगेशन सिस्टम.
मारक क्षमता को दो हजार से बढ़ाकर तीन हजार किमी तक किया जाएगा.