30 लोग लगातार करते रहे रेप, जानिए ‘बेंडिट शकुंतला’ की दर्दनाक कहानी

हाल ही में  ‘बेंडिट शकुंतला’ का पहला लुक जारी हो गया है। यह फिल्म बिहार की मशहूर डकैत शकुंतला की कहानी पर आधारित है। फिल्म के लुक को 40वें अमरीकन फिल्म मार्केट में लॅान्च किया गया। बेंडिट शकुंतला का निर्देशन हैदर काजमी ने किया है। फिल्म को लियाकत गोला और इरीना रतकू ने मिलकर प्रोड्यूस किया है।

women rape साठी इमेज परिणाम

इस फ़िल्म कि खास बात यह है कि शकुंतला का किरदार खुद डकैत शकुंतला ही निभाएंगी। एक्टर अभिमन्यू सिंह एक प्रतिपक्षी का रोल प्ले करेंगे। मूवी में ओंकर दास मानिकपुरी, ललितेश झा, रतनलाल, मुजामिल कुरैशी और हैदर काजमी भी लीड किरदार में नजर आएंगे।

women rape साठी इमेज परिणाम

डकैत शकुंतला की कहानी:-

शकुंतला बिहार की एक डकैत थीं जिन्होंने गांव की महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठाई थी। उनका जन्म बिहार के एक छोटे से गांव में हुआ था। गरीबी और लाचारी के कारण उनपर बहुत अत्याचार किए गए। लेकिन उन्होंने शिक्षा को अपना ढाल बनाया। पढ़ाई में रूची लगाने के बाद एक दिन उन्हें एक अमीर आदमी ने किडनैप कर उनका रेप कर दिया। उस दौरान वह महज 12 साल की थीं। इस दर्दनाक घटना के बाद उन्होंने उस आदमी के खिलाफ कोर्ट केस भी किया लेकिन वह हार गईं। गरीबी के चलते शकुंतला के ताऊ ने जबरदस्ती उनकी शादी एक बूढ़े आदमी से करवा दी जहां से वह भाग गई। बाद में उसी ताऊ ने जमीन हड़पने के चलते उनके पिता को मार दिया। कुछ वक्त बाद उस अमीर आदमी ने एक बार फिर 30 लोगों के साथ मिलकर शकुंतला का रेप किया और 10 दिन तक जंगल में उनका रेप करते रहे। इसके बाद एक डकैत ने उनकी जान बचाई और शकुंतला को भी डकैत बना दिया। आज वह एक सोशल वर्कर हैं और लोगों की सेवा कर अपना जीवन व्यतीत कर रही हैं।