के.डी. हास्पिटल में कम खर्च पर maxillofacial सर्जरी की सुविधा

मथुरा। यदि आप अकल दाढ़, टूटे-फूटे जबड़े, ट्यूमर, जबड़ा न खुलने (टी.एम.जे.), तालू में छेद, रसौली आदि समस्याओं से ग्रसित हैं तो घबड़ाने की जरूरत नहीं है। के.डी. मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के दंत रोग विभाग में इस तरह की हर समस्या का निदान कम से कम खर्च पर किया जा रहा है। यहां विशेषज्ञ दंत चिकित्सकों की टीम होने के साथ ही जांच और सर्जरी के आधुनिकतम उपकरण भी उपलब्ध हैं। यहां डा. आरती चौहान (एम.डी.एस.) Oral and maxillofacial सर्जन द्वारा अब तक हर तरह के जबड़ों की समस्या से परेशान सैकड़ों मरीजों के सफल ऑपरेशन किए जा चुके हैं।

डा. चौहान का कहना है कि सुपाड़ी-कत्था, गुटखा-तम्बाकू के बढ़ते उपयोग के चलते लोग ओरल कैंसर का शिकार हो रहे हैं। पान-तम्बाकू में उपयोग किए जाने वाला सिंथेटिक कत्था और चूना सबसे खतरनाक है लिहाजा लोगों को इससे बचना चाहिए। डा. आरती चौहान का कहना है कि तम्बाकू, पान मसाला और खैनी आदि के लगातार उपयोग से धीरे-धीरे मुंह खुलना कम होने लगता है तथा भविष्य में यह समस्या काफी भयावह हो जाती है। डा. चौहान बताती हैं कि सर्जरी के लिए यहां आने वाले मरीजों में अधिकांश लोग तम्बाकू, पान मसाला, खैनी और गुटखा आदि का सेवन करने वाले ही होते हैं।

डा. आरती चौहान का कहना है कि के.डी. हास्पिटल में दुर्घटना में खराब जबड़े, जन्मजात चेहरे की विकृति, मुंह के अंदर सफेद दाग, चेहरे की नस में दर्द आदि का इलाज और ऑपरेशन कम से कम पैसे में किए जाते हैं। यहां दुर्घटनाग्रस्त या ओरल कैंसर से विकृत जबड़ों को भी सर्जरी से सामान्य रूप दिए जाने की व्यवस्था है। डा. आरती बताती हैं कि ब्रज मण्डल में ओरल एण्ड मैक्सिलोफेशियल सर्जनों की कमी को ध्यान में रखते हुए ही के.डी. मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर प्रबंधन ने यहां हर सुविधा का ध्यान दिया है ताकि दांतों और चेहरे से सम्बन्धित हर परेशानी का निदान किया जा सके। आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डा. रामकिशोर अग्रवाल का कहना है कि के.डी. मेडिकल कालेज-हास्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर ब्रजवासियों को हर तरह की चिकित्सा सुविधा कम से कम खर्च पर उपलब्ध कराने को प्रतिबद्ध है।

The post के.डी. हास्पिटल में कम खर्च पर maxillofacial सर्जरी की सुविधा appeared first on updarpan.com.