महाराष्ट्र के बाद अब झारखंड में भी भाजपा को लग सकता है झटका, गठबंधन में दरार के संकेत

झारखंड विधानसभा चुनाव में भाजपा-आजसू गठबंधन में आ रही बिखराव की खबरों पर मंगलवार को आजसू अध्यक्ष सुदेश महतो ने कहा है कि अभी संभावनाएं समाप्त नहीं हुई है। भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के जवाब की प्रतीक्षा की जा रही है। सुदेश ने कहा है कि गठबंधन के तहत शुरुआती वार्ता से ही हमने उन विधानसभा सीटों की सूची भाजपा नेतृत्व को सौंपी थी, जिस पर हमारे कार्यकर्ता बीते पांच वर्षों से मेहनत करते आ रहे थे। सुदेश महतो पार्टी दफ्तर में प्रेसवार्ता के दौरान ये बातें कही।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा के समक्ष आजसू उम्मीदवार को उतारने पर सुदेश महतो ने कहा है कि प्रदेश के लोगों के सपने को पूरा करने के लिए हमने कुछ विषयों को भाजपा नेतृत्व के समक्ष रखा था। उन्होंने कहा कि भाजपा नेतृत्व से हमने अपने सियासी आधार क्षेत्र में सेवा करने का मौका मांगा है। लक्ष्मण गिलुवा और चार अन्य सीटों पर उम्मीदवार उतारने को लेकर कहा कि गठबंधन के भीतर सीट शेयरिंग को लेकर बातचीत जारी है। दोनों पार्टियों की तरफ से पहली सूची जारी हुई है।हमने जो पहली लिस्ट जारी की है, इन सीटों पर हमारी पार्टी ने पहले से चुनाव लड़ने की बात हुई थी। उन्होंने कहा कि भाजपा चुनाव प्रभारी के साथ बैठक में वार्ता हुई थी कि मजबूती को आधार बनाकर चुनाव लड़ा जाएगा। इस आधार पर बनाई गई लिस्ट मैंने भाजपा को सौंपी थी। इस सूची में शामिल विधानसभा सीटों पर आजसू के कार्यकर्ता लगातार गत पांच वर्षों से काम कर रहे हैं।