बिस्तर में खाना खाने की आदत, पड़ सकती है आप पर भारी

आपको क्या इस बात का ज़रा भी अंदाज़ा है कि बिस्तर पर खाना खाना अच्छी आदत नहीं होती है. गंदा बिस्तर और गंदी चादर कई बीमारियों को बढ़ावा देता है. वैसे हमने अक्सर देखा है कि कई लोग जमीन पर बैठकर खाने की बजाय बिस्तर पर बैठकर खाना खाते हैं. यह आदत एक गलत आदत है, बिस्तर पर खाना खाने से हमारे स्वास्थ्य पर कई तरह के प्रभाव डालता है. और बिस्तर पर खाना खाने से हमें कई तरह के नुकसान हो सकता है.
नींद प्रभावित होना: ऐसा माना जाता है कि बिस्तर पर खाना खाने से स्वास्थ्य नकारात्मक प्रभाव होता है. कई लोग खाते वक्त टीवी भी देखते हैं , ऐसी गतिविधियां हमारे दिमाग पर प्रभाव डालती हैं. जिससे कीड़े-मकौड़े हो जाते हैं; बिस्तर पर खाना खाने से चीटियां और कॉकरेच आते है. खाने का सिर्फ एक टुकड़ा चीटियों की दावत बन जाता है. इसलिए अगर आप बीमार नहीं पड़ना चाहते तो अपनी चादर पर खाना खाने की आदत छोड़ दें. खाना खाने के लिए आप डाइनिंग टेबल का उपयोग करें.
रोगाणु पैदा होते हैं: क्या आपको पता है,बिस्तर की गंदी चादर पर तरह-तरह के रोगाणु जन्म लेते है. जब हम बिस्तर पर बैठकर खाना खाते हैं , तब कई बार खाना चादर पर गिर जाता है. जिसके कारण हमारे बिस्तर पर तरह-तरह के रोगाणु होने लगते है, इसलिए इस बात का हम सभी को ध्यान रखना चाहिए कि 4 दिन के अंतराल में हमें बिस्तर की चादर बदल लेनी चाहिए. ऐसा करने से हम अनेक बिमारियों से बच सकते है.
कई गंभीर बीमारी हो सकती है; यह बात सत्य है बिस्तर गंदा होना और चादर को अत्यधिक दिन तक बिछाए रखने से कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं. यह बात तो हम सभी जानते हैं कि गंदगी बीमारी की जड़ है , इसलिए बिस्तर का उपयोग सिर्फ सोने के लिए किया जाता है.