रिलायंस जियो द्वारा शुरुआती समय में जियो ग्राहकों को सभी नंबरों पर अनलिमिटेड कॉलिंग की सुविधा तथा अनलिमिटेड इंटरनेट उपलब्ध करवाया जाता था. हालांकि जियो के आने से पहले की मार्केट के बारे में बात करें तो लोगों को डाटा तथा कॉलिंग के लिए भारी कीमत चुकानी पड़ती थीं. उस समय लोगों को 1GB डाटा के लिए ही हर महीने 300 से ₹400 चुकाने पड़ते थे. साथ ही कॉलिंग, एस एम एस तथा रोमिंग के लिए अलग से रिचार्ज करवाना पड़ता था.

लेकिन वक्त बदला तथा रिलायंस जियो कंपनी ने टेलीकॉम मार्केट में धमाकेदार एंट्री मारी. तब से बाकी कई सारी कंपनी के ग्राहक जियो में आ गए तथा कम कीमत में डाटा तथा कॉलिंग की सुविधाओं का लाभ उठाने लगे. लेकिन जियो कंपनी ने एक बार फिर करवट बदली तथा अन्य सभी ऑपरेटर्स पर कॉलिंग करने के लिए 6 पैसे पर मिनट के हिसाब से चार्ज लेने शुरू कर दिया. जिससे जियो के कई सारे ग्राहक अन्य कंपनी में पोर्ट होने शुरू हो गए, क्योंकि बाकी कंपनियां अन्य ऑपरेटर्स पर अभी भी फ्री में कॉलिंग दे रही हैं.

गुस्साए ग्राहकों को देख कर लिया है यह अहम फैसला

जियो कंपनी ने गुस्साए ग्राहकों को देखते हुये लिया है ये अहम फैसला, जिसको जानकर जियो के सभी ग्राहक खुशी से झूम पड़ें हैं. जियो कंपनी द्वारा टेलीकॉम मार्केट में 84 दिनों की वैलिडिटी वाला नया ऑफर प्रस्तुत किया है, जिसमें ग्राहकों को अन्य नेटवर्क ऑपरेटर्स पर भी कॉलिंग की सुविधा फ्री में उपलब्ध करवाई जा रही है. जियो कंपनी के इस नए ऑफर में जियो ग्राहकों को 84 दिनों के लिए प्रतिदिन 2GB डाटा उपलब्ध करवा दिया जाता है.
कॉलिंग के बारे में विस्तार से बात करें तो 84 दिनों के लिए जियो टू जियो अनलिमिटेड कॉलिंग की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है, जबकि अन्य नेटवर्क ऑपरेटर्स पर कॉलिंग के लिए 1000 मिनट उपलब्ध करवाए गए हैं. जियो के इस ऑफर में कुल मिलाकर 168 जीबी डाटा 84 दिनों तक उपलब्ध करवाया जाता है. साथ ही प्रतिदिन की 2GB डाटा लिमिट खत्म होने के बाद भी 64 केबीपीएस की स्पीड से अनलिमिटेड इंटरनेट इस्तेमाल करने को उपलब्ध करवाया जाता है.
अनुमान लगाया जा रहा है कि जियो के गुस्साए ग्राहकों को देखते हुए कंपनी द्वारा यह ऑफर टेलीकॉम मार्केट में प्रस्तुत किया है ताकि जियो के ग्राहक बाकी कंपनियों में ना जाएं. वहीं पर सूत्रों के अनुसार मिली जानकारी से यह बात भी सामने आई है कि शायद नए साल से जियो कंपनी द्वारा फिर से अन्य ऑपरेटर्स पर अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग की सुविधा उपलब्ध करवानी शुरू कर दी जाए. अगर ऐसा होता है तो फिर से बाकी कंपनियों को बहुत बड़ा झटका लगेगा.