एक झटके में घट गए प्याज के दाम, अब कीमत मात्र 5…

जैसा कि आप सब जानते हैं कि प्याज़ कि महंगाई ने आम आदमी को  परेशान कर रखा है| पिछले हफ्ते दिल्ली में प्याज 100 रुपये किलो तक पहुंच गया था| प्याज की सेंचुरी क्या लगी, सब परेशान हो गए पब्लिक भी, सरकार भी| आनन-फानन में प्याज की कीमत पर काबू पाने के लिए आयात का फैसला लिया गया और अब विदेशी प्याज भारत की मंडियों में पहुंच चुका है| लेकिन कुछ व्यापारी इस मौके का फायदे उठा रहे हैं, जमाखोरी की वजह से कीमत में उतनी कटौती नहीं हो रही है, जितनी होनी चाहिए| जमाखोरों पर नकेल कसने के लिए पिछले दो दिनों से आयकर विभाग मोर्चा संभाला हुआ है| इसका असर भी हो रहा है|

onion साठी इमेज परिणाम

प्याज कारोबारियों के गोदामों और दुकानों पर देशव्यापी छापेमारी के बाद मंडियों में घबराहट के बीच मंगलवार को प्याज के दाम में 5-10 रुपये प्रति किलो की गिरावट दर्ज की गई| प्याज की जमाखोरी की जानकारी मिलने पर सोमवार को आयकर विभाग ने प्याज कारोबारियों के खिलाफ देशव्यापरी छापेमारी शुरू की| सूत्रों से पता चला है कि प्याज की आवक बढ़ने के बावजूद दाम बढ़ने के पीछे जमाखोरी और सट्टेबाजी की जानकारी पर आयकर विभाग ने देशभर में प्याज कारोबारियों के प्रतिष्ठानों पर सोमवार से छापेमारी शुरू की, जो कि मंगलवार को भी जारी रही|

onion साठी इमेज परिणाम

व्यापारिक सूत्रों ने बताया कि आयकर विभाग की छापेमारी से मंडियों में घबराहट है, जिसके कारण देश की राजधानी दिल्ली स्थित आजादपुर मंडी में मंगलवार को प्याज की आवक कम रही| आजादपुर मंडी में प्याज का थोक भाव 30-50 रुपये प्रति किलो था, जबकि एक दिन पहले मंडी में प्याज 40-55 रुपये प्रति किलो बिका| प्याज की आवक मंगलवार को करीब 1,500 टन रही, जबकि एक दिन पहले आवक 2,000 टन के करीब थी|