ED द्वारा साई इन्फोसिस्टम की 56 करोड़ की संपत्ति अटैच

नई दिल्ली। ED (प्रवर्तन निदेशालय) ने बैंक फ्रॉड और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में अहमदाबाद की एक कंपनी साई इन्फोसिस्टम की 56 करोड़ की संपत्ति को अटैच किया है।
धनशोधन रोकथाम कानून (PMLA) के तहत प्रवर्तन निदेशालय ने साई इन्फोसिस्टम की 37 अचल संपत्तियों को अटैच किया है।
एजेंसी ने कंपनी के नाम पर प्लॉट, फॉर्म हाउस, कमर्शियल और रेजिडेंशल प्रॉपर्टी को अटैच किया है। इन संपत्तियों की कुल कीमत 56.21 करोड़ है जो।
गलत दस्तावेज के आधार पर लिया लोन
जांच एजेंसी ने कहा कि साई इन्फोसिस्टम और इसके चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर सुरेंद्र कुमार ने गलत दस्तावेजों के आधार पर SBI नेतृत्व वाले कंसोर्टियम से लोन लिया। बाद में इन पैसों का गलत इस्तेमाल अचल संपत्ति खरीदने में किया गया। इन पैसों से ग्रुप की अन्य कंपनियां, CMD सुरेंद्र कुमार और उनके संबंधियों के नाम पर अचल संपत्तियां खरीदी गईं।
बैंकों के कंसोर्टियम को 867 करोड़ का नुकसान
कंपनी ने अपने काम के लिए लोन उठाया था लेकिन इसका इस्तेमाल दूसरे कामों में हुआ, जिसकी वजह से लोन धीरे-धीरे NPA हो गया और बैंकों के कंसोर्टियम को करीब 867 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।
ईडी के मुताबिक, CMD सुरेंद्र कुमार ने फंड डायवर्जन के लिए कई शेल कंपनियों बनाई और उसकी मदद से लोन के फंड का गलत इस्तेमाल किया गया है।
कंपनी के दोनों डायरेक्टर गिरफ्तार
ED ने इस पूरे मामले में कंपनी के दो डायरेक्टर सुरेंद्र कुमार और राजीव गुप्ता को गिरफ्तार किया है। बता दें कि 2015 में सबसे पहले CBI ने बैंक लोन फ्रॉड का मामला दर्ज किया था, जिसके आधार पर 2018 में ED ने दोनों डायरेक्टर के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का आपराधिक मामला दर्ज किया था।
-एजेंसियां

The post ED द्वारा साई इन्फोसिस्टम की 56 करोड़ की संपत्ति अटैच appeared first on updarpan.com.