फैसले के बाद माहौल बिगाड़ने की कोशिश में सात गिरफ्तार

मेरठ। अयोध्या मामले में शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद कई जगह पुलिस को सख्ती दिखानी पड़ी। बागपत में शराब के नशे में धुत एक युवक ने हंगामा किया। मेरठ में फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने के मामले में सिविल लाइन थाने की पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। नौचंदी और ब्रह्मपुरी में भी पुलिस ने आतिशबाजी करने पर छह युवकों को पकड़ा है।
मेरठ पुलिस ने आपत्तिनजक पोस्ट डालने के आरोप में लक्ष्मण शर्मा नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। वह मूल रूप से मथुरा में थाना नौहझील के ग्राम भगवान गढ़ी का रहने वाला है। आरोपी के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।
दूसरी तरफ नौचंदी थाने की पुलिस ने अदालत का फैसला आने के बाद धारा 144 का उल्लंघन करते हुए आतिशबाजी करने के आरोप में तीन युवकों अपूर्व, सुरेंद्र और प्रवीण को गिरफ्तार किया है। मेरठ में ब्रह्मपुरी क्षेत्र में पुलिस ने अखिल भारतीय हिंदू महासभा के कार्यालय को सील करते हुए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अशोक शर्मा को नजरबंद कर दिया है।
मुस्लिम समाज ने खिलाई एक-दूसरे को मिठाई
मेरठ के मेहताब, मछेरान, सोतीगंज में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को लेकर मुस्लिम समाज ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाई गई। मेरठ के मवाना कस्बे के थाने के पीछे बाजार में फैसला आने के बाद एक स्थान पर हिंदू संगठन के पदाधिकारियों की तरफ से आतिशबाजी करने की सूचना पर पहुंचे एसडीएम और सीओ ने लोगों को फटकारा और भीड़ को दौड़ाकर भगा दिया।
पुलिस रख रही सोशल मीडिया पर नजर
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में ऐतिहासिक फैसले के मद्देनजर सभी जिलों में पुलिस ने कड़े बंदोबस्त किए। खुद एडीजी, आईजी, कमिश्नर, डीएम और एसएसपी सड़कों पर उतरें। आईटी सेल ने सोशल मीडिया पर निगरानी रखी। अफवाहों के चलते देर रात से सुबह दस बजे तक दुकानों पर रोजमर्रा का सामान खरीदने वालों की लाइन लगी रही।
-एजेंसियां

The post फैसले के बाद माहौल बिगाड़ने की कोशिश में सात गिरफ्तार appeared first on updarpan.com.