विराट कोहली ने जब से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा है, तब से लगातार रन बना रहे हैं। 2009 में, विराट ने भारत और श्रीलंका के बीच खेले गए मैच में अपना पहला एकदिवसीय शतक बनाया था और आज एक दशक बाद वह दुनिया के सबसे महान बल्लेबाजों में से एक बन गये हैं।

उच्चतम स्तर पर उनके शानदार प्रदर्शन के कारण उनकी तुलना दिग्गज सचिन तेंदुलकर के साथ की जाती है। मास्टर ब्लास्टर अभी भी सबसे अधिक एकदिवसीय शतकों (51) का रिकॉर्ड रखते है, लेकिन विराट इस आंकड़े से केवल आठ शतक दूर है। साथ ही, सचिन सर्वोच्च स्तर पर 100 शतकों का रिकॉर्ड भी रखते हैं। विराट के पास यह रिकॉर्ड तोड़ने का भी मौका है, क्योंकि उनके 69 शतक हो चुके हैं।
तेंदुलकर 2013 में भारतीय क्रिकेट से सेवानिवृत्त हुए और उनके रिटायरमेंट के 6 साल बाद भी उनके कई रिकॉर्ड अभी तक अनछुए हैं। कुछ दिन पहले, विराट 31 साल के हो गए और यह कहना गलत नहीं होगा कि वह अपने खेल में शीर्ष पर हैं। वह सबसे योग्य खिलाड़ियों में से एक है और अगर वह अपनी फिटनेस बनाए रखते है, तो वह 37 से 38 साल की उम्र तक खेल सकते है।
विराट इस समय आराम पर हैं और वह बांग्लादेश के खिलाफ तीन मैचों की टी20 आई श्रृंखला नहीं खेल रहे हैं। विराट इंदौर और कोलकाता में टाइगर्स के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की श्रंखला में मैदान पर वापसी करेंगे। 2014 के अंत में, एमएस धोनी द्वारा टेस्ट प्रारूप से रिटायरमेंट के बाद विराट टेस्ट कप्तान बन गए। फिर जनवरी 2016 में, कोहली को एकदिवसीय और T20I क्रिकेट में भी कप्तानी की जिम्मेदारी मिली।
सीमित ओवरों के क्रिकेट में विराट को लक्ष्य का पीछा करने की कला में महारत हासिल है। वह सचिन के रिकॉर्ड्स के जितना करीब आते जाएंगे, उसकी तुलना उतनी ही मास्टर मास्टर ब्लास्टर से उतनी अधिक की जाएगी।
विराट 31 साल के हो चुके हैं, यहां हम आपको सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, सौरव गांगुली, जैक्स कैलिस, एबी डिविलियर्स और रिकी पोंटिंग के 31 की उम्र तक के आंकड़े दिखाने जा रहे हैं, जिन्हें देखकर आप बता सकते हैं कि, इनमें से कौन बेहतर है? आइये देखें आकंडे:-