31 दिसंबर को वायु सेना से विदा हो जाएगा भारत का “बहादुर”, जानिए खासियत

भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) को 35 साल अपनी सेवा देने के बाद “मिग-27” लड़ाकू विमान को दिसंबर में विदाई दे दी जाएगी । सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक,  मिग-27 को बेड़े से 31 दिसंबर को विदाई दी जाएगी। इस विदाई समारोह में स्क्वाड्रन अधिकारियों के अलावा वायुसेना के अन्य कई सेवारत और सेवानिवृत्त कर्मी भी मौजूद रहेंगे।

mig 27 bahadur साठी इमेज परिणाम

आपको बता दें कि इस लड़ाकू विमान को भारत में बहादुर नाम दिया गया है। मिग-27 को 1984 में भीरतीय वायुसेना में भी शामिल किया गया था। और तब से अब तक इसे 7 परिचालन स्क्वाड्रन और अन्य युद्ध प्रशिक्षण और रणनीति-मूल्यांकन प्रतिष्ठानों में सेवा दी है।

mig 27 bahadur साठी इमेज परिणाम

दरअसल, सन् 2014 में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) ने 165 मिग 27 एयरक्राफ्ट का निर्माण किया था और उनमें से कुछ में अपग्रेड करते हुए उसका नाम मिग- 27 यूपीजी रखा। 35 साल की लगातार सेवा देने वाले इस बहादुर (Bahadur) विमान को भारतीय वायु सेना ने रिटायर करने का फैसला लिया है। वायु सेना का कहना है कि इस हीरो को 87वें एयरफोर्स डे पर  विदाई दे दिया जा चुका है। लेकिन एख बार फिर आधाकारिक रूप से जोधपुर एयरबेस पर इसके लिए विदाई समारोह रखा जाएगा।