दोस्तो, भारत में पीछले कई सालों में बहुत से शहरों के नाम परिवर्तित किए गये हैं। लेकिन कुछ ऐसे देश भी हैं जिन्होंने अपना नाम परिवर्तन किया है। आज हम उन्हीं कुछ देशों के बारे में बताने जा रहे हैं –

1. ईरान

वर्तमान में ईरान नाम से पुकारे जाने वाले देश का पुराना नाम पर्शिया था। वहां की सरकार ने 1935 में सभी देशों से कहा कि अब उसे पर्शिया ना कहकर ईरान के नाम से पुकारा जाए। उस समय कुछ लोगों ने इसके नाम परिवर्तन का विरोध भी किया, लेकिन वर्तमान में इसे ईरान के नाम सज ही जाना जाता है। 1979 में हुई इस्लामी क्रांति के बाद से ही इस देश का आधिकारिक नाम ‘इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान’ कहा जाने लगा है।

2. कंबोडिया

इस देश ने बहुत बार अपना नाम परिवर्तित किया है। 1953 से लेकर 1970 तक इसे किंगडम ऑफ कंबोडिया कहा जाता था। 1970 से लेकर 1975 तक इसे दुनिया खमेर रिपब्लिक के नाम से जानती थी। जब देश में फिर से राजशाही कायम हुई तो इसका नाम फिर से बदलकर किंगडम ऑफ कंबोडिया हो गया।

3. म्यांमार

म्यांमार का इससे पहले नाम बर्मा था। वहां की सैन्य सरकार ने इसका नाम 1989 में म्यांमार रखा। इस नाम को फ्रांस, जापान व संयुक्त राष्ट्र ने स्वीकार कर लिया, लेकिन ब्रिटेन व अमेरिका ने इसे लंबे समय तक बर्मा नाम से ही पुकारते रहे। अब वहां सैन्य सरकार समाप्त होने के बाद से ही म्यांमार को लेकर दुनिया की सोच बदल रही है।

4. इथोपिया

मौजूदा इथोपिया नाम से पुकारे जाने वाले इस देश के उत्तरी हिस्से पर पहले अबीसीनिया साम्राज्य का शासन हुआ करता था। परंतु द्वितीय विश्व युद्ध के समय वहां के राजा हेले सेलासी ने इसका नाम अबीसीनिया से बदलकर इथोपिया कर दिया था। लेकिन कुछ जानकारों का यह कहना है कि इसका हमेशा से ही इथोपिया नाम था और इसका अबीसीनिया नाम अरबों द्वारा प्रचलित किया गया था।

5. श्रीलंका

अंग्रेजों के शासन में 1815 से 1948 तक श्रीलंका को सीलोन के नाम से पुकारा जाता था। 20वीं सदी के आरंभ में स्वतंत्रता आंदोलन तेज हुआ तो इस देश का नाम श्रीलंका रखे जाने की मांग ने भी जोर पकड़ा। इस देश का 1972 में आधिकारिक नाम द रिपब्लिक ऑफ श्रीलंका रखा गया। सन 1978 में इसे डेमोक्रेटिक सोशलिस्ट रिपब्लिक ऑफ श्रीलंका के नाम से जाना गया।