कलयुग के बाद कैसा होगा अगला युग, यहां जानिए

इस समय कलयुग चल रहा है और आपके दिमाग में कभी न कभी  ये सवाल जरूर आया होगा कि कलयुग के बाद कौन सा युग आएगा।

kalyug satyug साठी इमेज परिणाम

आपको बता दें कि शुक्ल और कृष्ण पक्ष मिलाकर दो पक्ष का एक महीना होता है और 2 माह की एक ऋतु और इस तरह तीन ऋतुएँ मिलकर एक अयन बनता है।

kalyug satyug साठी इमेज परिणाम

वहींं 15 मानव दिवस मिलकर एक पितृ दिवस बनता है। 30 पितृ दिवस का एक पितृ मास कहलाता है। 12 पितृ मास का एक पितृ वर्ष। यानी पितरों का जीवनकाल 100 का माना गया है तो इस मान से 1500 मानव वर्ष हुए।

(1) 4,800 दिव्य वर्ष अर्थात एक सतयुग। मानव वर्ष के मान से 1728000 वर्ष।

(2) 3,600 दिव्य वर्ष अर्थात एक त्रेता युग। मानव वर्ष के मान से 1296000 वर्ष।

(3) 2,400 दिव्य वर्ष अर्थात एक द्वापर युग। मानव वर्ष के मान से 864000 वर्ष।

(4) 1,200 दिव्य वर्ष अर्थात एक कलि युग। मानव वर्ष के मान से 432000 वर्ष।

सत्य युग : वर्तमान वराह कल्प में हुए कृत या सत्य को 4800 दिव्य वर्ष का माना गया है।