इस कारण भारतीय बना रहे हैं व्हॉट्सएप से दूरी, जानिए

भारतीय पत्रकारों और एक्टिविस्टों के व्हॉट्सएप में सेंधमारी के खुलासे के बाद लोग व्हॉट्सएप से दूरी बना रहे हैं. बता दें कि बड़ी संख्या में लोग ‘सिग्नल’ और ‘टेलीग्राम’ का रुख कर रहे हैं. आपको बता दें कि व्हॉट्सएप की तरह सिग्नल और टेलीग्राम भी एंड टू एंड एन्क्रिप्शन की सुविधा देते हैं. टेलीग्राम के संस्थापक पावेल दुरोव के अनुसार, एंड टू एंड एन्क्रिप्शन फीचर के बावजूद व्हॉट्सएप को सर्विलांस पर ओपन किया जा सकता है. वहीं सिग्नल जैसे मैसेजिंग प्लेटफार्म को कई प्रभावी लोगों ने सुरक्षा के लिहाज से बेहतर माना है|

सिग्नल और टेलीग्राम साठी इमेज परिणाम

बेहतर सुविधाओं के साथ आ रहे हैं नये एप-

मिली जानकारी के अनुसार, सिग्नल एक ओपन सोर्स प्रोजेक्ट है, जो ग्रांट और डोनेशन से चलता है. करीब चार पहले लांच की गयी इसकी मैसेजिंग सर्विस एंड्रॉयड और आईओएस यूजर्स के लिए उपलब्ध है. इसमें टेक्स्ट, डॉक्यूमेंट, पिक्चर मैसेज, वॉयस और वीडियो कॉल की जा सकती है.