राखी के बाद है कजरी तीज, जानिए शुभ मुहूर्त

Image result for कजरी तीज
कजरी तीज का त्यौहार महिलाओं के लिए बेहद ख़ास होता है. ऐसे में आप सभी को बता दें कि कजरी तीज भादो मास में कृष्ण पक्ष की तृतीया को मनाई जाती है और अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक यह तिथि जुलाई व अगस्त के महीने में आती है. ऐसे में कहा जाता है यह त्यौहार मुख्य रूप से महिलाओं का ख़ास पर्व है और हरियाली तीज, हरितालिका तीज की तरह कजरी तीज भी सुहागिन महिलाओं के लिए होता है. वहीं कजरी तीज के मौके पर सुहागिन महिलाएं पति की लंबी आयु के लिए कजरी तीज का व्रत रखती हैं और कुंवारी कन्याएं अच्छे वर के लिए यह व्रत रखती है।
कहते हैं कजरी तीज के मौके पर जौ, गेहूं, चने और चावल के सत्तू में घी और मेवा को मिलाकर तरह-तरह के पकवान तैयार किए जाते हैं और इसी के साथ कजरी तीज वाले दिन महिलाएं चंद्रोदय के बाद भोजन कर लेती हैं और व्रत खोल देती है. वहीं आपको बता दें कि कजरी तीज के मौके पर गायों की विशेष रूप से पूजा की जाती है और आटे की सात लोइयां बनाकर उनपर घी, गुड़ रखकर गाय को खिलाने के बाद भोजन किया जाता है।
इसी के साथ कजरी तीज के मौके पर झूले डाले जाते हैं और महिलाएं एकत्रित होकर नाचती-गाती हैं। आपको बता दें कि इस साल कजरी तीज 18 अगस्त को मनाई जाने वाली है और कजरी तीज का शुभ मुहूर्त 17 अगस्त के रात 10 बजकर 48 मिनट से शुरू होकर 18 अगस्त के 1 बजकर 13 मिनट तक रहने वाला है.