दोस्तों विश्व कप के लिए भारतीय टीम का चयन हो चुका है। हालांकि यह टीम मेरे हिसाब से कमजोर नज़र आ रही है क्योंकि मिडिल आर्डर उतना मजबूत नज़र नही आ रही है।

दोस्तों इस चयन में अंबाती रायडू तथा रिसभ पंत की जगह बनती थी। दिनेश कार्तिक मेरे हिसाब से टी-20 के ही स्पेशलिस्ट है इसलिए अंबाती रायडू उनकी जगह पर बिल्कुल फिट थे।


अंबाती का एकदिवसीय रिकॉर्ड बेहतरीन है। उन्होंने 55 एकदिवसीय मैचों में 1694 रन बनाए है। उनका बैटिंग एवरेज 47 का है तथा उनका उच्च स्कोर 124 रन है। रायडू मिडिल आर्डर में एक बैलेंस प्रदान करते तथा टीम को किसी भी हालात से निकालने में भी वे सक्षम रहते।


विजय शंकर का हालिया प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा है। उनमें आत्म्विश्वास की कमी नज़र आ रही है। विजय शंकर की शैली तो बहुत बढ़िया है लेकिन उनकी सबसे खराब बात यह रही है कि वे छोटे पारियों को बड़े पारियों में बदलने में नाकामयाब रहे है। ऐसे में यह टीम के नजरिए से बेहद ही चिंताजनक बात है।


इसके विपरीत पंत काफी ठंडे दिमाग के खिलाड़ी है। वे एक पिंच हिटर है तथा अंतिम ओवरों में वे तेजी से रन बनाने में माहिर है। पंत इससे पहले इंग्लिश कंडीशन्स में खेल चुके है जहाँ उन्होंने लॉर्ड्स टेस्ट में एक बेहतरीन शतक लगाया था।


दोस्तों क्या पंत और रायडू के न होने से भारतीय टीम का वर्ल्ड कप जीतने का सपना चकनाचूर हो सकता है। कमेंट करके जरूर बताएं