प्रत्येक विश्व कप के बाद, हम अपने संबंधित टीमों में वरिष्ठ खिलाड़ियों को रिटायर होते हुए देखते हैं। यह संस्करण अलग नहीं है और कुछ बहुत बड़े नामों ने रिटायरमेंट का ऐलान किया है।
वर्ल्ड कप 2019 की 10 टीमों में से केवल बांग्लादेश, विंडीज और इंग्लैंड के पास ही 2015 संस्करण से लेकर अब तक एक ही कप्तान था। किसी भी खेल में बदलाव काफी आम हैं और इसी कारण इस वर्ल्ड कप के बाद 5 बड़ी टीमों के कप्तान बदल सकते हैं। आइये देखें कौनसी हैं वे 5 टीमें।

1. अफगानिस्तान
टूर्नामेंट से कुछ दिन पहले असगर अफगान को कप्तान के रूप में हटाने के चयनकर्ताओं के फैसले को लेकर काफी विवाद हुआ था। हालांकि गुलबदीन नायब अफगानिस्तान क्रिकेट के लिए एक महान सेवक रहे हैं, लेकिन वे इस टीम का नेतृत्व करने के लिए सबसे अच्छा विकल्प नहीं थे। उनकी ओर से वर्ल्ड कप के परिणाम नेता के रूप में उनके भविष्य पर संदेह पैदा करते हैं।
रहमत शाह लंबे समय तक टीम के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक रहे हैं और उनके पास टीम का नेतृत्व करने के लिए पर्याप्त अनुभव है। राशिद खान का बड़े टूर्नामेंट में खेलने का अनुभव उन्हें एकदिवसीय टीम का कप्तान बनाने में भूमिका निभा सकता है। हशमतुल्ला शाहिदी और नजीबुल्लाह जादरान चयनकर्ताओं के लिए अन्य विकल्प हैं।
2. श्रीलंका


श्रीलंका क्रिकेट का स्तर लगातार गिरता जा रहा है, उनके बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण विभाग क्उरिकेट के उच्चतम स्तर के लिए बहुत कमजोर और अक्षम हैं। हालांकि टीम के पास में बहुत अधिक युवा संभावनाएं हैं, लेकिन उनकी प्रतिभा का उपयोग करने के लिए सही मार्गदर्शन प्रणाली नहीं है। वर्तमान कप्तान दिमुथ करुणारत्ने जल्द ही कप्तानी छोड़ सकते हैं।
उनके पास दिनेश चंडीमल, कुसल मेंडिस, थिसारा परेरा और कुसल परेरा के रूप में कुछ विकल्प है, जो हाल के महीनों में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।
3. दक्षिण अफ्रीका


इस वर्ल्ड कप में दक्षिण अफ्रीका का प्रदर्शन बेहद शर्मनाक रहा है और उनके कप्तान फाफ डूप्लेसी ने कप्तानी छोड़ने के संकेत दे दिए हैं।
टीम के लिए एडेन मार्कराम एक अच्छा विकल्प है, लेकिन इतनी बड़ी ज़िम्मेदारी के साथ एक प्रतिभाशाली युवा पर दबाव पड़ सकता है। हालांकि, उन्होंने कुछ साल पहले दक्षिण अफ्रीका को U19 विश्व कप जीत के लिए नेतृत्व किया है। डेविड मिलर एक अन्य विकल्प है, लेकिन इस संबंध में उनके पास कोई अनुभव नहीं है।
4. पाकिस्तान


टीम में बहुत सारे वरिष्ठ खिलाड़ी अपने करियर के अंत की ओर बढ़ रहे हैं, जैसे मोहम्मद हफीज और कप्तान सरफराज अहमद। सरफराज के साथ एक बड़ी समस्या यह है कि वह बल्ले के साथ नियमित रूप से योगदान नहीं देते हैं।
बाबर आज़म को उनके देश में अगले बड़े दिग्गज के रूप में देखा जा रहा है और सरफराज के पद छोड़ने के बाद वह भूमिका निभा सकते हैं। उनके पास फखर ज़मान भी हैं, जिन्हें पाकिस्तान सुपर लीग में लाहौर कलंदरों का नेतृत्व करने का अनुभव है। इमाद वसीम चयनकर्ताओं के लिए विचार करने के लिए एक और विकल्प है।
5. बांग्लादेश


मशरफे मुर्तजा अपना अंतिम विश्व कप खेल रहे हैं और सफेद गेंद के साथ बांग्लादेश का सबसे अधिक विकेट लेने वाला गेंदबाज है। उनके प्रेरणादायक नेतृत्व के तहत बांग्लादेश को यात्रा करने के लिए एक सही रास्ता मिल गया है और चयनकर्ताओं के लिए उनका एक एक उचित प्रतिस्थापन खोजना मुश्किल होगा।
शाकिब अल हसन और मुश्फिकुर रहीम कप्तानी के शीर्ष दावेदार हैं, लेकिन वे अधिक रुचि नहीं रखते हैं। ऐसे में सौम्या सरकार, लिटन दास और मेहदी हसन के रूप अन्य विकल्प हैं।