किसी ने किस खूब लिखीं बाते अगर अमल किया तो बनोगे महान

 

जीवन में सफल होने के लिए उत्साह और प्रेरणा की जरूरत हर किसी को होती है। इसी कोशिश में हम आपके लिए हर रोज़ प्रेरणादायक बातें लेकर आते हैं। अगर आप हमारे चैनल पर पहली बार आए हैं और आपको हमारी प्रेरणादायक बातें पसंद आती हैं तो हर रोज़ एक से बढ़कर एक खूबसूरत प्रेरणादायक बने।
 
 
अब टूट चुके हैं शीशे उन दरवाजों के
जो मन के रंग महल के दृढ जड़ प्रहरी हैं
जिनको केवल हिलना डुलना ही याद रहा
मस्तक पर चिंता की तलहटियाँ हीं गहरी हैं
कोई निर्मम तूफ़ान सीढियों पर बैठा
थककर सुस्ताकर अन्धकार में ऊंघ रहा
ऊपर कोई नन्हें बादल का टुकड़ा
कुछ खोकर हर तारे को जैसे सूंघ रहा
यह देख खोजने लगता हूँ मैं भी नभ में
शायद तारों में छुपकर कहीं चमकते हों
मेरे अंतर के वे तारे शीशे जिनको
नभ के तारे चुपचाप छुपाकर रखते हों
लेकिन रजनी के प्रहार बीतते जाते हैं
उस अमर ज्योति के टुकड़े हाथ नहीं आते हैं