गुरुग्राम: पुलिस का खुलासा- आरोपी 40 लाख में बेच रहे थे 1 करोड़ 20 लाख के नकली नोट

गुरुग्राम के सोहना रोड पर बीते बुधवार को हुई नकली करेंसी छापेमारी मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. पुलिस ने बताया है कि नकली करेंसी रखने के आरोप में गिरफ्तार वसीम और कासिम सोहना रोड पर 1 करोड़ 20 लाख के नकली नोट 40 लाख रुपये में बेचने आए थे. नकली नोटों की यह खेप 2-2 हजार के नोटों के रूप में थी. फिलहाल दोनों आरोपी 7 दिन की पुलिस रिमांड पर हैं.
एसीपी क्राइम शमशेर सिंह के मुताबिक दोनों आरोपियों को 7 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है. पुलिस आरोपियों के नेटवर्क को और इनकी क्राइम की कुंडली को भी खंगालने में जुटी है. साथ ही इस मामले में नोट पर इस्तेमाल की जाने वाली स्याही और बाकी संदिग्ध दस्तावेज दोनों आरोपी कहां से लेकर आए, कहां-कहां इनके कनेक्शन हैं और किस गिरोह से इनका संबंध है, कहीं इनके तार पाकिस्तान से तो नहीं जुड़े हैं ऐसे तमाम पहलुओं को ध्यान में रखते हुए गंभीरता से तफ्तीश की जा रही है.
दरअसल राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सूचना मिली थी कि कुछ लोग नकली नोटों की बड़ी खेप की सोहना रोड पर डील करने वाले हैं. इसी इनपुट के आधार पर एनआईए और गुरुग्राम पुलिस ने संयुक्त छापेमारी कर करोड़ 20 लाख के नकली नोट, लेपटॉप और प्रिंटर बरामद किया था. साथ ही मेवात के पुन्हाना के रहने वाले वसीम और कासिम को नकली करंसी रखने के आरोप में गिरफ्तार किया था. वसीम, जहां बीएससी का छात्र है तो वहीं कासिम वेल्डिंग का काम करता है.