दिन में हॉक एडवांस जेट से मिशन को अंजाम देकर Mohana Singh ने इतिहास रचा

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना की पहली महिला लड़ाकू पायलट लेफ्टिनेंट Mohana Singh ने दिन में हॉक एडवांस जेट से मिशन को अंजाम देकर इतिहास रच दिया। 2016 में Mohana Singh को दो अन्य महिलाओं भावना कांत और अवनी चतुर्वेदी के साथ जून 2016 में लड़ाकू पायलट प्रशिक्षण के लिए चुना गया था। Mohana Singh को दो महिलाओं भावना कंठ और अवनी चतुर्वेदी के साथ जून 2016 में लड़ाकू पायलट प्रशिक्षण के लिए लड़ाकू शाखा में चुना गया था।

इससे पहले फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ ने इतिहास रचते हुए युद्ध में शामिल होने की योग्यता हासिल करने वाली पहली महिला फाइटर पायलट बनी थी। 22 मई को वायुसेना ने कहा था कि भावना कंठ ने लड़ाकू विमान मिग 21 को उड़ाकर इश मिशन को पूरा किया।

इसकी जानकारी देते हुए वायुसेना के प्रवक्ता ग्रुप कैप्टन अनुपम बनर्जी ने कहा था कि भावना ने दिन में लड़ाकू विमान में उड़ान भरकर मिशन में कामयाबी हासिल करने वाली पहली महिला फाइटर पायलट बनी गई हैं।

भावना भारतीय वायुसेना के पहले बैच की महिला फाइटर पायलट हैं। उनके साथ दो अन्य महिला पायलट अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह को 2016 में फ्लाइंग ऑफिसर के रूप में चुना गया था। एक साल से कम समय में ही सरकार ने प्रयोग के तौर पर महिला पायलटों के लिए युद्ध मिशन में शामिल होने का रास्ता खोलने का निर्णय लिया था। बिहार की बेटी भावना इस समय बीकानेर स्थित नल बेस पर तैनात हैं।

गौरतलब है कि भावना भारतीय वायुसेना के पहले बैच की महिला फाइटर पायलट हैं। उनके साथ दो अन्य महिला पायलट अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह को 2016 में फ्लाइंग ऑफिसर के रूप में चुना गया था। इसके बाद सरकार ने महज एक साल के अंदर ही महिला पायलटों के लिए युद्ध मिशन में शामिल होने का रास्ता खोलने का फैसला लिया था।
-एजेंसी

The post दिन में हॉक एडवांस जेट से मिशन को अंजाम देकर Mohana Singh ने इतिहास रचा appeared first on updarpan.com.