खतरे में अशोक गहलोत की कुर्सी, सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग हुई तेज

लोकसभा चुनाव में बड़ी हार के बाद  में नए सिरे से बदलाव की खबरें आ रही हैं। पार्टी में होने वाले इस बदलाव की लिस्ट में राजस्थान का नंबर सबसे ऊपर दिखाई दे रहा है। राजस्थान में करारी हार के बाद अब सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर तलवार लटक रही है।
मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्रमोह के कारण नाराज बताए जा रहे हैं। इस बीच मंगलवार को सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम ने दिल्ली में पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात की, जिसमें प्रियंका ने साफ शब्दों में दोनों नेताओं से हार के कारणों की समीक्षा करने और जिम्मेदारी लेने की बात कही।

सियासत के जानकार बताते हैं कि पिछले साल विधानसभा चुनाव के बाद राहुल गांधी को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाना चाहते थे, लेकिन पार्टी के बड़े नेताओं ने राहुल पर अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री बनाने का दबाव डाला। अशोक गहलोत के मुख्य़मंत्री बनाए जाने के पीछे लोकसभा चुनाव का हवाला देते हुए कहा गया था कि इन नेताओं के अनुभव का लाभ पार्टी को मिलेगा, लेकिन जब नतीजे आए तो सबकुछ उलटा हो गया ऐसे में राहुल अब अशोक गहलोत समेत पार्टी के बड़े नेताओं से नाराज हो गए हैं।

इस बीच आज जयपुर में कांग्रेस की प्रदेश कार्यकारिणी की अहम बैठक होने जा रही है, जिमसें राहुल गांधी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहने के प्रस्ताव पारित करने के साथ ही चुनाव में हार के कारणों की समीक्षा होगी। इस बीच जयपुर में सचिन पायलट सर्मथकों ने उनको मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग तेज कर दी है। वहीं कई मंत्रियों ने भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।