अमेरिका ने भारत को चेताया, अगर रूस से ‘एस-400’ ख़रीदा तो हो सकता है नुकसान…

वाशिंगटन: ट्रंप प्रशासन ने चेतावनी दी है कि रूस से मिसाइल रक्षा प्रणाली ‘एस-400’ खरीदने के निर्णय का अमेरिका और भारत के बीच रक्षा संबंधों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। आपको बता दें कि एस-400 जमीन से हवा में मार कर सकने में सक्षम रूस की अत्याधुनिक मिसाइल रक्षा प्रणाली है। चीन ने रूस से इस प्रणाली की खरीदी करने के लिए 2014 में सबसे पहले अनुबंध किया था। 
भारत और रूस के बीच इस रक्षा प्रणाली की खरीद के लिए गत वर्ष अक्टूबर में 5 अरब डॉलर का करार हुआ था। यह करार पीएम नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के मध्य व्यापक विचार-विमर्श के बाद हुआ था। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के एक आला अधिकारी ने गुरुवार को बताया है कि रूस से एस-400 हवाई रक्षा प्रणाली खरीदने का फैसला अहम है। उन्होंने इस विचार से असहमति जाहिर की है कि यह कोई बड़ी बात नहीं है। 
आपको बता दें कि एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली सौदे का नतीजा अमेरिकी प्रतिबंधों के रूप में सामने आ सकता है। अमेरिकी कांग्रेस ने रूस से हथियारों की खरीद पर रोक लगाने के लिए ‘काउंटरिंग अमेरिकाज ऐडवर्सरीज थ्रू सैंक्शंस ऐक्ट (सीएएटीएसए)’ बनाया था और इसी कानून के तहत अमेरिका बैन लगा सकता है।