राजस्थान से इन चार सांसदों को दिल्ली से बुलावा, सबसे पहला फोन अर्जुन राम मेघवाल को

जयपुर। नरेंद्र मोदी गुरूवार शाम को प्रधानमंत्री पद की शपथ ले रहे हैं। भव्य समारोह में उनके राजतिलक की तैयारियां जोरों पर हैं। ऐसे में अब इस बात की चर्चा भी जोरों पर है कि उनके मंत्रिमंडल में कौनसे सांसद, राजनेता शामिल होंगे। गौरतलब है कि बुधवार को इस विषय पर मंथन के बाद आज सुबह भी मंत्रियों के नामों पर चर्चा चल रही थी। अब राजस्थानवासियों में भी इस बात को लेकर खासा उत्साह है कि प्रदेश से मोदी की टीम में कौन शामिल हो सकता है।
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शाम 4.30 बजे नए मंत्रियों से मुलाकात करेंगे। इसके लिए उम्मीदवारों को फोन किया गया है और सबसे पहला फोन राजस्थान के बीकानेर सांसद अर्जुनराम मेघवाल को गया है। इसके साथ ही प्रदेश के तीन और सांसदों को फोन किया गया है, जिनके मंत्री बनने की प्रबल संभावना जताई जा रही है।
इन नामों में अर्जुनराम मेघवाल के अलावा जयपुर ग्रामीण सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़, जोधपुर सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत और बाड़मेर जैसलमेर सांसद कैलाश चौधरी के नाम शामिल हैं, जिन्हें दिल्ली से बुलावा मिला है।
उल्लेखनीय है कि 16वीं लोकसभा में प्रदेश से कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़, गजेंद्र सिंह शेखावत और अर्जुनराम मेघवाल मंत्री थे। राठौड़ के पास मई 2018 से 2019 तक Ministry of Information and Broadcasting का स्वतंत्र प्रभार था। सितंबर 2017 से मई 2019 तक Minister of State (Independent Charge) for Youth Affairs and Sports और नवंबर 2014 से मई 2018 तक Minister of State for Information and Broadcasting का प्रभार था।
वहीं जोधपुर सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत के पास सितंबर 2017 से मई 2019 तक Minister of State Ministry of Agriculture and Farmers Welfare का महकमा था। शेखावत ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत को प्रचंड बहुमत के साथ हराया और दूसरी बार जोधपुर संसदीय सीट पर जीत हासिल की।
इसके अलावा अर्जुनराम मेघवाल के पास Union Minister of State, Water Resources, River Development & Ganga Rejuvenation , Parliamentary Affairs मंत्रालय था। यहां मेघवाल ने सितंबर 2017 से मई 2019 तक सेवाएं दीं। जुलाई 2016 से सितंबर 2017 तक मेघवाल Union Minister of State, Finance Minister थे। साल 2013 में मेघवाल को Best parliamentarian Award से भी नवाजा जा चुका है।
इनके अलावा जो नया नाम सामने आ रहा है, वो है बाड़मेर जैसलमेर सांसद कैलाश चौधरी का। चौधरी ने विधानसभा चुनाव 2018 से पहले भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए मानवेंद्र सिंह को हराया था। कैलाश चौधरी को कर्नल सोनाराम की जगह बाड़मेर जैसलमेर से टिकट दिया गया था।
देखने वाली बात ये होगी इन चारों में से किसे क्या प्रभार मिलता है। फिलहाल एनडीए से नागौर संसदीय सीट से जीते रालोपा के हनुमान बेनीवाल का नाम इस लिस्ट में शामिल नहीं है। साथ ही श्रीगंगानगर सांसद निहालचंद का नाम भी इस बार मंत्री पद की दौड़ में नहीं है।
उधर, आपको बता दें कि सबको फोन आने के बाद जयपुर ग्रामीण सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ की पत्नी गायत्री राठौड़ ने तो सोशल मीडिया पर एक अखबार की ईपेपर कटिंग शेयर की है। जिसमें लिखा गया है कि पीएमओ से उन सांसदों को फोन किए गए हैं, जिनका मंत्री बनना तय है। इसके बाद उन्हें कई लोगों से बधाईयां भी मिली हैं। हालांकि अब तक आधिकारिक रूप से कोई घोषणा नहीं हुई है, लेकिन यदि राजस्थान से तीन से सांसद मोदी की टीम में शामिल होते हैं, तो निश्चित रूप से प्रदेशवासियों के लिए गर्व की बात होगी