आखिरकार राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिले राहुल गांधी, पहले इसलिए किया था इनकार

लोकसभा चुनाव नतीजों के मद्देनजर राजस्थान की सरकार और कांग्रेस संगठन को लेकर दिल्ली में हलचल तेज हो गई है। आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। गहलोत व पायलट दो दिन से दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। दो दिन से वहां बैठकों और मंत्रणों के दौर चल रहे हैं। हार की समीक्षा के लिए दोनों नेताओं की सोमवार को ही राहुल गांधी के साथ बैठक होने वाली थी, लेकिन यह अचानक रद्द कर दी गई।

आज सुबह गांधी ने पहले पायलट और बाद में गहलोत को बुलाकर फीडबैक लिया। दोनों नेताओं ने राहुल को हार के कारण गिनाने के साथ ही भाजपा की रणनीति का भी उल्लेख किया। माना जा रहा है कि पार्टी में गुटबाजी की बातें भी सामने आर्इं। इस बीच, दिल्ली तक ये शिकायतें भी पहुंच रही हैं कि जयपुर समेत कई सीटों पर कांग्रेसियों ने भी कांग्रेस को हराने में कसर नहीं छोड़ी।
सूत्रों के अनुसार राहुल ने सीएम और डिप्टी सीएम से मिलने से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और कोषाध्यक्ष अहमद पटेल से मंत्रणा की। इन नेताओं की आपस में क्या बात हुई? इसका खुलासा नहीं हो सका है।
कांग्रेसी हलकों में ये चर्चाएं चल रही हैं कि अब क्या होगा? सबकी निगाहें दिल्ली की बैठकों पर टिकी है और कयास लगाए जा रहे हैं कि आलाकमान क्या फैसले लेगा? मंत्रिमंडल में फेरबदल और प्रदेश कांग्रेस में बदलाव की अटकलें भी तेज हो गई हैं।