बारां जिले के आमली खालसा गांव में शौच के लिए गए एक व्यक्ति पर मगरमच्छ ने हमला कर दिया। मौत को सामने देखकर वह घबरा गया और मदद के लिए चिल्लाया। लेकिन सुबह होने के कारण वहां कोई मौजूद नहीं था। इसी बीच मगरमच्छ ने उसे पानी में खींच लिया। हीरालाल खुद को बचाने के लिए पूरी ताकत के साथ मगरमच्छ से लड़ता रहा। वह मगरमच्छ पर लात घूंसे मारता रहा लेकिन इसका उस पर कोई असर नहीं हुआ।


जद्दोजहद के बाद, उसके हाथ को पत्थर का हाथ लगा और उसने लगातार मगरमच्छ की आंख के पास हमला करता रहा। जैसे ही मगरमच्छ ने अपना मुँह खोला, उसने अपना पैर बाहर निकाला और नदी से बाहर भाग आया। गौरतलब है कि इस संघर्ष के दौरान वह कुछ ही पानी में था इससे वह भागने में सफल हो गया। हमले में उसे गंभीर चोटें आईं।


जख्मी हालत में वह गांव पहुंचा और लोगों को इस घटना के बारे में जानकारी दिया। गांव के रामगोपाल नगर और राकेश कुमार ने अटरू अस्पताल में भर्ती कराया गया। गौरतलब है कि करदिया गुलजी, अचरवा, कटावर सहित कई गांवों में मगरमच्छ के हमले में कई लोग घायल भी हुए हैं।