Aakash-1S एयर डिफेंस मिसाइल का सफल परीक्षण

नई दिल्‍ली। रक्षा क्षेत्र में भारत ने एक और उपलब्धि हासिल की है, रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने सोमवार को Aakash-1S एयर डिफेंस मिसाइल प्रणाली का सफल परीक्षण किया। पिछले दो दिनों में Aakash-1S मिसाइल का यह दूसरा सफल परीक्षण है। यह Aakash-1S मिसाइल का एक नया संस्करण है जिसमें इंडिजेनस सीकर फिट किया गया है।

इससे पहले शुक्रवार को अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ)ने राजस्थान के पोखरण रेंज में लक्ष्य को तलाशकर भेदने वाले इनर्शियल गाइडेड बम का सफल परीक्षण किया। पूरी तरह स्वदेशी तकनीक से विकसित इस 500 किलोग्राम वजनी बम ने सुखोई लड़ाकू विमान से दागे जाने के बाद 30 किलोमीटर दूर लक्ष्य पर सटीक निशाना लगाया था।

डीआरडीओ लगातार कर रहा परीक्षण
इससे पहले, डीआरडीओ ने 13 मई को ओडिशा के परीक्षण केंद्र से ‘अभ्यास’- हाई स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (हीट) का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। परीक्षण में विभिन्न रडारों और इलेक्ट्रो ऑप्टिक प्रणाली के जरिये इसकी निगरानी की गई। 17 मई को नौसेना और डीआरडीओ ने मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण किया था।

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि गाइडेड बम ने सफलतापूर्वक रेंज हासिल करते हुए लक्ष्‍य पर काफी सटीक निशाना लगाया। मंत्रालय ने कहा, डीआरडीओ ने राजस्थान के पोकरण परीक्षण रेंज से एसयू-30 एमकेआई विमान से आज 500 किलोग्राम श्रेणी के एक इंनर्शियल गाइडेड बम का सफल उड़ान परीक्षण किया।

बयान के मुताबिक, बम छोड़े जाने के परीक्षण के दौरान मिशन के सभी उद्देश्‍य पूरे हो गए। यह प्रणाली विभिन्‍न युद्धक हथियारों को ले जाने में सक्षम है। गाइडेड बम का परीक्षण ऐसे समय में किया गया है जब दो दिन पहले ही भारतीय वायुसेना ने अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह में एक सुखोई विमान से सुपरसोनिक ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल के हवाई संस्करण का सफल परीक्षण किया।

-एजेंसी

The post Aakash-1S एयर डिफेंस मिसाइल का सफल परीक्षण appeared first on updarpan.com.