भारत को दुनिया का तेजी से बढ़ता हुआ अर्थव्यवस्था वाला देश माना जाता है। भारत आने वाले समय में दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश बन जाता है। भारत में कई ऐसे राज्य है जो आर्थिक रुप से संपन्न है। भारत की जीडीपी दुनिया के कई देशों से आगे है। लेकिन भारत में कई ऐसे राज्य है जहां सबसे ज्यादा कर्ज है। आज हम आप लोगों को भारत के 5 सबसे बड़े कर्जदार राज्य के बारे में बताने जा रहे है।

5. आंध्र प्रदेश
यह भारत का पांचवां सबसे बड़ा कर्जदार राज्य है। इस राज्य को सबसे ज्यादा रेवेन्यू अपने सर्विस सेक्टर से मिलता है। आंध्र प्रदेश राज्य का कुल कर्ज लगभग 1.73 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है। मिनेरल्स वेल्थ के मामले में आंध्र प्रदेश भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य माना जाता है। इस राज्य का कुल जीडीपी 857,364 करोड़ रुपए है। यहां का प्रति व्यक्ति आय लगभग 47,834 रुपए है।
4. गुजरात


गुजरात भारत का चौथा सबसे बड़ा कर्जदार राज्य माना जाता है। गुजरात में लगभग 1.76 लाख करोड़ रुपए का कर्ज था। यह राज्य देश का सबसे तेजी से विकास करने वाला राज्य माना जाता है। यहां प्रति व्यक्ति आय लगभग 96,976 रुपए है।
3. वेस्ट बंगाल


वेस्ट बंगाल को भारत का तीसरा सबसे बड़ा कर्जदार राज्य माना जाता है। वेस्ट बंगाल कुल कर्ज लगभग 2.50 लाख रुपए के आसपास है। वेस्ट बंगाल को भारत का सबसे बड़ा चावल उत्पादक राज्य माना जाता है। वेस्ट बंगाल आर्थिक रुप से संपन्न राज्य है।
2. उत्तर प्रदेश


उत्तर प्रदेश भारत का दूसरा सबसे बड़ा कर्जदार राज्य माना जाता है। उत्तर प्रदेश को भारत का एक बड़ा और आर्थिक रुप से संपन्न राज्य माना जाता है। उत्तर प्रदेश का कुल कर्ज लगभग 2.95 लाख रुपए है। उत्तर प्रदेश को भारत का सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला राज्य माना जाता है।
1. महाराष्ट्र
Third party image reference
महाराष्ट्र को भारत का सबसे ज्यादा कर्जदार राज्य माना जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें महाराष्ट्र देश का सबसे अमीर राज्य माना जाता है। यह भारत का सबसे अमीर राज्य होने के साथ साथ भारत का सबसे बड़ा शहरी राज्य माना जाता है। महाराष्ट्र का कुल कर्ज लगभग 3.44 लाख रुपए का कर्ज है।