पश्चिम बंगाल में अमित शाह के बाद अब योगी आदित्यनाथ की रैली रद्द

छह चरण की वोटिंग के बाद भी पश्चिम बंगाल में सियासी पारा गरम है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बाद अब सीएम योगी आदित्यनाथ की भी रैली बंगाल में नहीं होगी. पार्टी के मुताबिक, सीएम योगी यहां 3 रैलियां करने वाले हैं, जिसमें एक की परमिशन नहीं मिली है.

छह चरण के मतदान के बाद भी पश्चिम बंगाल में सियासी जंग जारी है. हिंसक झड़प के बाद अब यहां रैली की इजाजत न मिलने का मुद्दा गरमा गया है. सोमवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली रद्द होने के बाद अब यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की रैली रद्द हो गई है. पार्टी के मुताबिक, 15 मई को योगी आदित्यनाथ 3 रैलियां करने वाले हैं. इसमें एक रैली की परमिशन नहीं मिली है. सीएम योगी बुधवार को हावड़ा में दोपहर 12.30 बजे पब्लिक मीटिंग है,  जबकि नॉर्थ कोलकाता में 2 बजे और 3 बजे केएफआर ग्राउंड में जनसभा संबोधित करने वाले थे.
पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के तहत 9 सीटों पर 19 मई को मतदान होना है. जिसके लिए सोमवार को अमित शाह की 3 रैलियों का कार्यक्रम था. इनमें से एक रैली दक्षिण 24 परगना जिले के जाधवपुर में दोपहर 12.30 बजे होनी थी. लेकिन रैली से कुछ वक्त पहले ही परमिशन रद्द होने की खबर आ गई. साथ ही अमित शाह के हेलिकॉप्टर को भी लैंडिंग की इजाजत नहीं दी गई. हालांकि, जाधवपुर के अलावा बाकी दोनों रैलियों को इजाजत मिल गई थी.
Image result for अमित शाह के बाद अब योगी आदितà¥à¤¯à¤¨à¤¾à¤¥
शाह ने जाधवपुर में रैली रद्द होने पर कहा ‘जयनगर में तो आ गया, लेकिन दूसरी जगह ममता दीदी के भतीजे की सीट थी. वहां पर हमारे जाने से ममता जी डरती हैं. उन्हें डर है कि भाजपा वाले इकट्ठा होंगे तो भतीजे का तख्त उल्टा हो जाएगा. इसलिए उन्होंने सभा की इजाजत नहीं दी.’
बता दें कि हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह के हमलों का जवाब देते हुए तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि मैं इंच-इंच का बदला लूंगी, आपने मुझे और बंगाल को बदनाम किया है. हालांकि, दोनों पार्टियों के नेताओं की यह जुबानी जंग काफी पुरानी है.
Related image
पहले चरण के मतदान से पहले ही दोनों दलों में जमकर खींचतान देखने को मिल रही है. पहले भी अमित शाह के अलावा यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के हेलिकॉप्टर को लैंडिंग की परमिशन नहीं दी गई है. साथ ही हर चरण के मतदान में हिंसक घटनाओं को लेकर भी बीजेपी ने तृणमूल कांग्रेस सरकार पर उंगली उठाई है. जबकि दूसरी तरफ ममता बनर्जी केंद्रीय बलों को इस्तेमाल कर मोदी सरकार पर चुनाव प्रभावित करने के आरोप लगा रही हैं.