कैंसर के इलाज में काम आएगी पीपली

भोजन को मसालेदार बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला मशहूर भारतीय पीपली का उपयोग अब जल्द ही कैंसर के इलाज की प्रभावी दवा तैयार करने में किया जा सकता है.
 

जैव रसायन विज्ञान जरनल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार भारतीय पीपली में एक ऐसा रसायन पाया जाता है, जो आपके शरीर को उस एंजाइम को उत्पादित करने से रोकता है, जो सामान्यत: बड़ी संख्या में ट्यूमर में पाया जाता है. 


यूटी दक्षिण-पश्चिम मेडिकल सेंटर के वैज्ञानिकों ने इस भारतीय मसाले (पीपली) के पौधे में कैंसर रोधी गुण का पता लगाया है. पीपली में पाया जाने वाला यह रसायन पिपरलोंगुमाइन (पीएल) कई प्रकार के कैंसर जैसे प्रोस्टेट, स्तन, फेफड़े, लिंफोमा, ल्यूकेमिया और प्राथमिक मस्तिष्क ट्यूमर और अमाशय के कैंसर में लाभकारी है. 

जैव रसायन और विकिरण कैंसर के सहायक प्रोफेसर डाॅ. केनिथ वेस्टओवर ने कहा कि हम आशान्वित हैं कि हमारी संरचना अतिरिक्त दवा के विकास में मददगार होगी और इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के कैंसर के उपचार के लिए किया जा सकेगा.