सुषमा स्वराज ने पद्मश्री Sudevi Dasi को वीजा न देने पर मंत्रालय से मांगी रिपोर्ट

नई दिल्‍ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पद्मश्री Sudevi Dasi को वीजा न देने पर मंत्रालय से रिपोर्ट तलब की है। रविवार को मथुरा के राधाकुंड में 40 वर्षों से गोवंश की सेवा करने वाली जर्मनी की फ्रेडरिक इरिना ब्रूनिंग Sudevi Dasi की गुहार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सुना। सुषमा स्वराज ने सुदेवी दासी के वीजा की अवधि न बढ़ाए जाने पर अफसरों से रिपोर्ट मांगी है।

‘जर्मन माई’ के नाम से प्रसिद्धि पा चुकीं सुदेवी दासी को राष्ट्रपति द्वारा गो सेवा के लिए पदमश्री से सम्मानित किया जा चुका है। सुदेवी के वीजा की अवधि 25 जून को समाप्त हो रही है। उन्होंने वीजा अवधि बढ़वाने के लिए प्रार्थना पत्र भेजा था, जिसे स्वीकार नहीं किया गया।

इस पर सुदेवी दासी ने कहा था कि जब गायों की सेवा ही छूट जाएगी और जर्मनी वापस चली जाऊंगी तो पद्मश्री सम्मान का क्या करूंगी। अब सुदेवी दासी की गुहार पर सुषमा स्वराज ने संज्ञान लिया है।

जर्मनी निवासी 61 वर्षीय सुदेवी दासी का नाम मूल नाम फ्रेडरिक इरिना ब्रूनिंग है, उन्हें इस साल गोरक्षा के लिए नागरिक सम्मान से सम्मानित किया गया था।

ब्रूनिंग ने अपने सम्मान को वापस करने की धमकी दी थी क्योंकि उनके भारत में रहने की समयावधि बढ़ाने के आवेदन को विदेश मंत्रालय ने खारिज कर दिया था। मीडिया रिपोर्ट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए स्वराज ने ट्वीट किया, ‘इसे मेरे ध्यान में लाने के लिए धन्यवाद। मैंने इस मामले में रिपोर्ट मांगी है।’

ब्रूनिंग के वीजा की अवधि 25 जून को समाप्त हो रही है। उन्होंने वीजा अवधि बढ़वाने के लिए प्रार्थना पत्र भेजा था, जिसे स्वीकार नहीं किया गया। इस पर उन्होंने कहा था कि जब गायों की सेवा ही छूट जाएगी और मैं जर्मनी वापस चली जाऊंगी तो पद्मश्री सम्मान का क्या करूंगी।

ब्रूनिंग लंबी वीजा अवधि या फिर भारत की नागरिकता की मांग कर रही हैं। मथुरा के राधाकुंड स्‍थित उनके आश्रम में लोग उन्हें जर्मन माई और ‘सुदेवी दासी’ के नाम से ही बुलाते हैं।
-एजेंसी

The post सुषमा स्वराज ने पद्मश्री Sudevi Dasi को वीजा न देने पर मंत्रालय से मांगी रिपोर्ट appeared first on updarpan.com.