इस समय मुस्लिमों का त्यौहार रमजान का समय चल रहा है, जिसमें रोजे को परंपरा को मानने वाले लोग रमजान में रोजा रखते हैं तो कुछ नहीं। इसी रमजान के पर्व में एक ऐसी घटना हुई हैं जहां पर 500 से अधिक लोग अब एचआईवी एड्स से पीड़ित हो चूके हैं।
Third party image reference
ये घटना हैं पाकिस्तान के लरकाना गांव की जहां की रहने वाली मुस्लिम औरत ने अपने बेटे अली रजा को बुखार होने पर डॉक्टर मुजफ्फर के पास ले गई। डॉक्टर ने बुखार को सामान्य बताकर उसे इंजेक्शन लगा दिया, लेकिन जब अली रजा को ये बात पता चली कि गांव में देखते ही देखते 300 से ज्यादा लोगों को एड्स हो चुका है इंजेक्शन लगवाने के बाद तब उसने अपने बेटे अली रजा की भी जांच कराई जिसमें अली रजा को भी बाद में एचआईवी एड्स से पीड़ित पाया गया।
Third party image reference
पाकिस्तान में एड्स नियंत्रक प्रमुख सिकंदर ने जांच करके बताया की गांव में अब तक 410 से ज्यादा बच्चें और 100 से ज्यादा मुस्लिम आदमियों को एचआईवी एड्स से पीड़ित पाया गया है।