नींद में 16 मिनट की कमी भी आपकी सेहत के लिए हो सकती है खतरनाक

कई बार ऐसा होता है कि ऑफिस में आपको नींद आने लगती है इससे आपका दिन भी ख़राब होता है. काम में भी मन नहीं लगता और नींद भी परेशान करती है. इन परिस्थितियों के बीच सिर्फ 16 मिनट की नींद का अंतर होता है. ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि वैज्ञानिकों ने एक स्टडी के जरिए यह बात कही है.  यानि थोड़ी भी देर की कमी आपके पूरे दिन को खराब कर देती है. आइए जानते हैं इसके बारे में. 
नींद की कमी का काम पर नकारात्मक असर 
स्लीप हेल्थ नाम के जर्नल में प्रकाशित इस स्टडी में बताया गया है कि अगर आप वर्किंग डे के दौरान अपनी नींद के घंटों में थोड़ी सी भी कमी लाते हैं तो इसका आपके जॉब परफॉर्मेंस पर नकारात्मक असर पड़ता है. यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ फ्लॉरिडा के अनुसंधानकर्ताओं ने 130 हेल्दी कर्मचारियों पर एक सर्वे किया जो आईटी सेक्टर में काम करते थे और जिनका कम से कम एक स्कूल जाने वाला बच्चा भी था.  
नींद पूरी न होने से तनावपूर्ण अनुभव बढ़ता है 
इसके अलावा यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ फ्लॉरिडा की असिस्टेंट प्रफेसर सूमी ली कहती हैं, ‘इस तरह के चक्रीय या आवर्ती संबंध इस बात को दर्शाते हैं कि हर दिन के संज्ञानात्मक स्ट्रेस का कर्मचारियों की नींद पर बुरा असर पड़ता है और यह कर्मचारियों के तनावपूर्ण अनुभवों को और बढ़ाता है. इस स्टडी के नतीजे इस बात का सबूत हैं कि वर्कप्लेस और ऑफिसों को अपने कर्मचारियों की नींद को प्रोत्साहित करने की जरूरत है. क्योंकि वैसे लोग जिनकी नींद पूरी होती है वे अगले दिन ऑफिस में बेहतर परफॉर्म करते हैं क्योंकि वे काम में फोकस कर पाते हैं और काम में गलतियां भी कम होती हैं.’