ज्यादा पानी पीने से होता है दिल का खतरा

गर्मी में हम पानी अधिक पीते हैं जिससे हर किसी की प्यास बुझती है. लेकिन आपको बता दें, अधिक पानी पीना भी आपके लिए नुकसान दायक हो सकता है. जी हाँ, अधिक पानी पीना भी आपके लिए समस्या का कारण बन सकता हैं. आइये हम बताते हैं आपको किस तरह पानी पीना भी बन सकता है बड़ी समस्या. इसी के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जिसे आप जान लें ताकि आपसे कोई गलती ना हो. 
* सिरदर्द और थकावट
ज्यादा पानी पीने से शरीर की कोशिकाएं सूजकर बड़ी हो जाती हैं, जिससे दिमाग पर असर पड़ता है. इससे सिरदर्द, जी मचलना, उल्टी और चक्कर आने लगते हैं. साथ ही रक्त वाहिकाएं और दिमाग पर लगातार दबाव पड़ने से शरीर में थकावट-सी होने लगती है.
* हार्ट अटैक का खतरा
ज्यादा पानी खून के घनत्व को बढ़ा देता है, जिससे दिल की बीमारियों और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है. जिन मरीजों की बाइ-पास सर्जरी हुई होती है, कुछ मामलों में ऐसे मरीजों को डॉक्टर कम पानी पीने की सलाह देते हैं.
* खराब पाचन क्रिया
जरूरत से ज्यादा पानी हमारे शरीर की पाचन प्रक्रिया को बिगाड़ सकता है. दरअसल, ज्यादा पानी पीने से भोजन को पचाने में मदद करने वाला ‘पाचन रस’ काम करना बंद कर देता है, जिससे भोजन देर से पचने लगता है. इससे पेट से संबंधित रोग होने की आशंका बढ़ जाती है.
* ज्यादा पानी से दिमाग में सूजन
शोध में पाया गया है कि शरीर में ज्यादा मात्रा में पानी पीने से सोडियम का लेवल तेजी से कम होने लगता है, जिससे दिमाग में सूजन आ सकती है. साथ ही इससे हाइपोट्रिमिया का खतरा बढ़ भी जाता है. सोडियम एक तरह का इलेक्ट्रोलाइट है, जो शरीर में पानी की मात्रा को नियंत्रित करता है.
* किडनी पर भी बुरा असर
जरूरत से ज्यादा पानी पीने से ओवरहाईड्रेशन की समस्या हो सकती है, जिसका सीधा असर किडनी पर पड़ता है. दरअसल किडनी ही शरीर में पानी को फिल्टर करने का काम करती हैं. जब आप ज्यादा पानी पीते हैं तो वह पूरे पानी को बॉडी से बाहर नहीं निकाल पाती, जो किडनी पर दवाब पड़ने लगते हैं. लंबे समय तक ऐसा होने से किडनी फेल होने का भी खतरा हो सकता है.