देश में 11 अप्रैल से लोकसभा चुनाव की शुरुआत हो चुकी है। लोकसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियां प्रचार अभियान में जुटी हुई हैं। चुनाव प्रचार के बीच मेनका गांधी मुस्लिम मतदाताओं को लेकर दिए गए अपने एक भाषण के कारण विवादों में आ गई हैं। मेनका गांधी द्वारा मुसलमानों पर दिए गए बयान के बाद अब वरुण गांधी ने भी मुस्लिम मतदाताओं को लेकर एक बड़ा बयान दिया है।
कौन हैं वरुण गांधी-


वरुण गांधी भारत देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पौत्र हैं। वरुण गांधी की माता मेनका गांधी मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री हैं। वरुण गांधी वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश की सुल्तानपुर लोकसभा सीट से सांसद है। इससे पहले 2009 में वह पीलीभीत से सांसद रह चुके हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने वरुण गांधी को पीलीभीत लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा है जबकि मेनका गांधी को सुल्तानपुर लोकसभा क्षेत्र से टिकट दिया गया है।
मुस्लिम मतदाताओं के लिए क्या बोले वरुण गांधी-
मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी मुसलमानों को लेकर दिए गए एक बयान के कारण विवादों में आ गई हैं। एक रैली को संबोधित करते हुए मेनका गांधी ने मुस्लिम मतदाताओं को उनके पक्ष में मतदान करने को लिए कहा था। मेनका गांधी के इस बयान को संज्ञान में लेते हुए चुनाव आयोग ने केंद्रीय मंत्री को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।


इसी बीच मेनका गांधी के पुत्र वरुण गांधी ने भी मुसलमानों को लेकर एक बड़ा बयान देते हुए कहा है कि वोट दें या ना दें लेकिन चुनाव के बाद आप लोग काम के लिए जरूर आना। वरुण गांधी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि वह नाम देखकर नहीं बल्कि लोगों की मजबूरी देखकर काम करते हैं, चाहे वह व्यक्ति हिंदू हो या मुस्लिम।