गर्भावस्था में आपकी पत्नी और नाबजात बेबी को बनाये, स्वस्थ सिर्फ इन चीजों का परहेज

गर्भावस्था का समय ऐसा होता है जिसमें औरतों को बहुत सोच समझकर खाने-पीना पड़ता है, जिसमें स्त्रियों को वह सभी पौष्टिक आहार ग्रहण करने होते हैं जिससे उनका बच्चा स्वस्थ और मजबूत पैदा हो। इसलिए महिलाओं को बहुत सी चीजों को ग्रहण करने के लिए कहा जाता है, परंतु कुछ कुछ ऐसे आहार हैं जिन्हें अगर वह ग्रहण करें तो उनके लिए खतरा साबित हो सकती है। इसलिए आज हम आपको गर्भावस्था के समय उन चीजों को परहेज करने के लिए बता रहे हैं जिन से महिलाओं को नुकसान पहुंच सकता है।




अधिकतर महिलाओं में यह मतभेद है कि पपीता खाने से गर्भावस्था में नुकसान होता है, परंतु वास्तविकता यही है कि पपीता खाने से किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता। लेकिन अगर कच्चे या अधपके पपीता को ग्रहण किया जाए तो इससे प्रसव में नुकसान पहुंच सकता है, इससे होने वाले बच्चे को भी खतरा हो सकता है। इसलिए अपने आहार में पपीता कच्चा ग्रहण बिल्कुल भी ना करें।

गर्भावस्था के समय महिलाओं को दूध गर्म दिया जाता है, जिससे होने वाला बच्चा तंदुरुस्त और मजबूत पैदा होता है, किंतु कच्चा दूध अगर गर्भावस्था में महिलाएं पिएंगे तो उससे शरीर को नुकसान पहुंच सकता है। इससे डायरिया या टीवी होने के चांसेस बढ़ सकते हैं इसलिए जब भी दूध पीते है तो उन्हें उबालकर पीएं, इससे दूध के पौष्टिक तत्व बच्चे और मां को मिल सकते हैं और वह हमेशा तंदुरुस्त रहेंगे।
महिलाओं को कभी भी कोई भी आहार बासी नहीं खाना चाहिए, इससे लूज मोशन, पेचिस और कब्ज की परेशानी हो सकती है, इसलिए जो भी खाएं वह ताजा और फ्रेश खाएं। कभी भी अगर बासी चीज खाते हैं तो उससे उन्हें और बच्चे को भी नुकसान पहुंच सकता है, इसलिए ताजे और फ्रेश चीजें ही अपने आहार में ग्रहण करें।