दिग्विजय की हार के बाद जिंदा समाधि की बात करने वाले बाबा पर भी आफत, अखाड़े ने निकाला बाहर

भोपाल. कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह की हार के बाद जिंदा समाधि लेने की बात करने वाले बाबा के ऊपर भी आफत आ गई है। बाबा को उनके अखाड़े ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। क्योंकि उनकी वजह से अखाड़े की बदनामी हो रही थी।
निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर वैराज्ञानंद गिरी को उनके अखाड़े ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। मीडिया से बात करते हुए इसकी पुष्टि हरिद्वार के निरंजनी अखाड़े के सचिव रविंद्र पूरी ने की है। दरअसल, वैराग्यानंद ने दिग्विजय सिंह को जीताने के लिए भोपाल में पांच क्विंटल लाल मिर्ची से यज्ञ किया था। साथ ही उन्होंने कहा था कि अगर दिग्विजय सिंह हार गए तो मैं जिंदा समाधि ले लूंगा। चुनाव परिणाम आने के बाद दिग्विजय सिंह भोपाल से चुनाव हार गए हैं। ऐसे में सोशल मीडिया पर लोग बाबा को खोज रहे हैं।
दरअसल, सोशल मीडिया यूजर्स बाबा को ढूंढ रहे हैं। सोशल मीडिया पर तरह-तरह की टिप्पणी कर रहे हैं। कई लोगों ने महामंडलेश्वर वैराग्यानंद का मोबाइल नंबर तक ढूंढ लिया है। उन्हें फोन कर रहे हैं, उनसे सवाल पूछ रहे हैं कि बाबाजी अब समाधि कब लेंगे।
सोशल मीडिया पर बाबा से बातचीत का ऑडियो भी वायरल है। जिसमें खुद को राहुल बता रहे एक शख्स ने बाबा को फोन किया। युवक ने बाबा से पूछा कि आप समाधि कब ले रहे हैं। उधर से जवाब आया कि जरूर है कि क्या। तो युवक कहता है कि आप स्वामी होकर झूठ बोलते हैं। इस पर बाबा कहते है कि आप ये शिक्षा अपने लोगों को दीजिए न।
बाबा ने चुनावों के दौरान ऐलान किया था कि मैं दिग्विजय सिंह के लिए प्रचार करूंगा। साथ ही उन्हें जीताने के लिए पांच क्विंटल में लाल मिर्ची से मिर्ची यज्ञ करूंगा। बाबा ने पांच मई को उनके लिए यज्ञ भी किया। साथ ही उऩ्होंने वादा किया था कि अगर दिग्विजय सिंह नहीं जीते तो मैं नतीजों के बाद जिंदा समाधि ले लूंगा।