लोकसभा चुनाव 2019 में सबसे चौंकाने वाला नतीजा यूपी की अमेठी सीट से सामने आया। गुरुवार को यहां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को बड़ा झटका लग गया। वो यहां से चुनाव हार गए। उनको भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी ने मात दे दी। एनडीटीवी न्यूज वेबसाइट के मुताबिक वैसे तो उनकी हार की कई वजह हैं लेकिन जब अमेठी की जनता से पूछा कि राहुल गांधी यहां से क्यों हारे तो उन्होंने ये जवाब दिया।


55 हजार वोटों से हराया

राहुल गांधी को भाजपा की स्मृति ईरानी ने करारी मात दी। उन्होंने राहुल को करीब 55 हजार वोटों से हरा दिया। वहीं साल 2014 में वो बड़े अंतर से चुनाव हार गई थीं। इस बार राहुल को चार लाख 12 हजार के करीब वोट मिले तो स्मृति को चार लाख 67 हजार लोगों ने मतदान किया।


जानें क्या बोले अमेठी के लोग

एनडीटीवी न्यूज चैनल ने अमेठी के लोगों से पूछा कि आखिर राहुल यहां से चुनाव क्यों हारे तो उन्होंने कई वजह बताईं। जनता ने कहा कि राजीव गांधी अमेठी आते थे तो लोगों से घर-घर जाकर मिलते थे लेकिन राहुल ने दौरे तो किए लेकिन किसी से भी व्यक्तिगत संवाद नहीं किया। लोग कहते हैं कि अब राहुल गांधी से उनको वो इज्जत महसूस नहीं होती है।


रोजगार नहीं मिले, बंद हो गई जीवन रेखा एक्सप्रेस

अमेठी की जनता ने कहा कि राजीव गांधी ने अमेठी के विकास के लिए कई परियोजनाएं शुरू की थीं। हालांकि राहुल गांधी ने सांसद रहते हुए कुछ नहीं किया। इससे यहां के युवाओं को रोजगार के लिए बाहर जाना पड़ा। लोग बोले कि राजीव के जमाने में जीवन रेखा एक्सप्रेस आती थी और सबकी सेहत की जांच होती थी। हालांकि राहुल गांधी के जमाने में ये सब बंद हो गया।