अमेरिका में पढ़ी अपनी बहू को मैदान में उतारकर नायडू ने दिलचस्प बनाया चुनाव

ब्राह्मणी नायडू परिवार के कंपनी हेरिटेज फूड्स को संभाल रही हैं

ब्राह्मणी ने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से बिजनेस मैनेजमेंट में स्नातकोत्तर किया हैं। ब्राह्मणी नायडू परिवार के कंपनी हेरिटेज फूड्स को पिछले पांच साल से संभाल रही हैं। वही इस कंपनी की फिलहाल एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर हैं। हालांकि, उन्होंने अब तक राजनीति में कोई रुचि नहीं दिखाई है। हालांकि वह अपने परिवार के लिए कभी-कभी चुनावी अभियानों ने शामिल हो रही हैं। फिलहाल वह अपने पति लोकेश नारा के लिए चुनावी कैंपेन कर रही हैं।

एनटीआर रामाराव के पोती हैं ब्राह्मणी

ब्राह्मणी ने सांता क्लारा विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रिकल में इंजीनियरिंग की है। इसके बाद उन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में एमबीए की पढ़ाई की। लोकेश के सक्रिय राजनीति में आने के बाद पारिवारिक व्यवसाय संभालने के लिए वह 2014 में हैदराबाद लौट आईं। फिलहाल वे नायडू परिवार के व्यवसाय हेरिटेज फूड्स को देख रही हैं। ब्राह्मणी एनटीआर मेमोरियल ट्रस्ट की की ट्रस्टी भी हैं। ब्राह्मणी नारा एनटीआर रामाराव के बेटे बालाकृष्ण की बेटी हैं।

मंगलागिरी में हिट हो रही हैं ब्राह्मणी की रैलियां

वरिष्ठ पत्रकार और एक स्वतंत्र विश्लेषक संबाशिवा राव ने ने कहा कि, मंगलागिरी से चुनाव लड़ रहे लोकेश नारा एक सुस्त प्रचारक साबित हुए हैं। यह उनकी पहली चुनावी लड़ाई है और वह भीड़ को अपनी ओर आकर्षित नहीं कर पा रहे हैं। जिसके बाद नायडू ने तय किया कि, ब्राह्मणी मंगलगिरी में चुनाव जीतने के लिए पार्टी का तुरुप का पत्ता हो सकती हैं। टीडीपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि नायडू को लोकेश को बचाने के लिए अपनी युवा और अच्छी वक्ता बहू को लाना पड़ा है। क्योंकि वह एनटीआर की पोती और बालकृष्ण की बेटी है। उनके अपना एक ग्लैमर है जो निश्चित रूप से पार्टी की मदद करेगा। हाल ही में की गई उनकी रैली काफी हिट रही हैं। लोगों के बीच वह खासी लोकप्रिय हो रही हैं।