चुनाव नतीजों से एक दिन पहले जानें जोधपुर लोकसभा क्षेत्र के प्रत्याशियों का हाल, शेखावत vs गहलोत में है चुनावी टक्कर

जयपुर/जोधपुर।
लोकसभा चुनाव ( Lok Sabha Chunav 2019 ) के तहत हुए मतदान के नतीजे आने में सिर्फ एक दिन शेष है। वहीं, पार्टियों के साथ-साथ प्रत्याशियों में भी हलचल तेज हो गई है। एग्जिट पोल के नतीजों के बाद जहां बीजेपी के प्रत्याशी आश्वस्त दिख रहे हैं वहीं कांग्रेस के प्रत्याशियों में हल्की सी मायूसी नजर आ रही है। हालांकि जीत-हार का फैसला होना अभी बाकी है।
जोधपुर लोकसभा सीट ( Jodhpur Lok Sabha constituency ) राजस्थान की सभी 25 सीटों में से बेहद लोकप्रिय सीट रही है। इस सीट पर एक तरफ केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री व बीजेपी के दिग्गज नेता गजेंद्र सिंह शेखावत हैं तो दूसरी तरफ सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत हैं। जोधपुर सीट पर गजेंद्रसिंह शेखावत ( Gajendra Singh Shekhawat ) के साथ-साथ सीएम अशोक गहलोत की भी प्रतिष्ठा दांव पर है।
चुनाव नतीजों से एक दिन पहले दोनों प्रत्याशी जीत को लेकर आश्वस्त दिखे। भाजपा प्रत्याशी गजेन्द्र सिंह शेखावत बुधवार को अपने चुनावी कार्यालय पहुंचे। यहां पहुंच कर उन्होंने भारत माता के चित्र पर पुष्प अर्पित किए। इस दौरान उन्होंने यहां कार्यकर्ताओं से बात भी की। शेखावत ने बातचीत करते हुए कहा कि चुनाव में मोदीजी की नीतियों की ही जीत होगी।
वहीं, वैभव गहलोत ने कहा कि वे आश्वस्त है कि जीत उनकी होगी। क्योंकि माता और बहनों ने उन्हें आशीर्वाद दिया है। जहां तक आज रात की बात है तो वह भी अच्छी कटेगी। इस दौरान वैभव गहलोत के चेहरे पर हल्का सा तनाव और थकान नजर आई। इसके बावजूद भी वे जीत को लेकर आश्वस्त नजर आए।
आपको बता दें कि 39 वर्षीय वैभव गहलोत जोधपुर सीट से लोकसभा चुनाव ( Jodhpur Lok Sabha Seat Vaibhav Gehlot ) में अपना भाग्य आजमा कर चुनावी करियर की शुरुआत करने जा रहे हैं। इसी को लेकर खुद मुख्यमंत्री ने पुत्र वैभव को नसीहत भी दी थी कि ‘वे मेरे जैसे नेता बनें’। इससे साफ़ है कि गहलोत भी चाहते है कि वैभव भी उन्ही की तरह राजनीति में बड़े मुकाम हासिल करें।