कुंवारी बेटी के साथ पिता करता है ऐसा काम, सुनकर रोंगटे खड़े हो जायेंगे

दुनिया के हर देश में अलग तरह की परंपराए निभाई जाती है. इनमें से कई सारी परंपराए तो ऐसी है जिनमें महिलाओं को नर्क से होकर गुजरना पड़ता है. कुछ ऐसी भी होती हैं जिन्हें सुनकर हमारी रूह ही काँप जाती है. आज आपको एक ऐसी ही घटिया परंपरा के बारे में बताएंगे. आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इस परंपरा के अनुसार एक पिता ही अपनी बेटी के साथ सुहागरात मनाता है. आप इस बात पर यकीन नहीं कर रहे होंगे लेकिन यही सच है. 
आपको बता दें, इस परंपरा के अनुसार एक मां ही अपनी बेटी की सौतन बन जाती है. यह परंपरा बांग्लादेश मे रहने वाली मंडी जनजाति में प्रचलित है. जहां एक बेटी को सबसे पहले अपने पिता के साथ सोना पड़ता है. बताया जा रहा है कि प्राचीन जमाने में मंडी जनजाति में एक ओरोला डालबोट नाम की लड़की रहती थी जिसकी उम्र 30 साल थी. जहां कम उम्र में ही उसके पिता का निधन हो गया था. इसके बाद उसकी मां ने दूसरी शादी कर ली थी. साथ ही उसकी बेटी की शादी भी उसके पिता से ही करवा दी थी. जब वह लड़की बड़ी हुई तो उसे पता चला की उसके पिता ही उसके पति है.
इतना ही नहीं इसी के चलते यहां पर परंपरा बन गई. अगर किसी के घर बेटी पैदा होती है तो एक बार उसकी शादी उसके पिता से ही करा दी जाती है. इसके बाद दूसरे इंसान के साथ कराई जाती है. इतना ही नहीं यहां पर अगर किसी महिला के पति की कम उम्र मे शादी हो जाती है. तो उसके परिवार में किसी कवांरे लड़के के साथ उसकी शादी करवा दी जाती है.