23 मई को लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आने जा रहे हैं। इससे पहले ही 19 मई को न्यूज चैनलों ने एग्जिट पोल के परिणाम जारी कर दिए जिसका लोगों को बेसब्री से इंतजार था। हालांकि इस बार नतीजे काफी हैरान करने वाले रहे और भारतीय जनता पार्टी को हर न्यूज चैनल ने बढ़त दिखाई। आखिर क्या वजह है कि सर्वे में बीजेपी को इतनी बढ़त मिली है। इसके पीछे की तीन वजह हम आपको बताते हैं। इनमें से दूसरी वजह तो सबसे खास है।


एग्जिट पोल में भाजपा की बढ़त की पहली वजह

भारतीय जनता पार्टी गठबंधन को एबीपी न्यूज ने 277 सीटें दे दी हैं तो आजतक ने 306 सीटें दे दी हैं। वहीं दूसरे चैनलों का भी यही हाल है। भाजपा के एग्जिट पोल में छाने की पहली वजह उज्ज्वला योजना है। उज्ज्वला योजना में बिना किसी भेदभाव के लोगों को गैस कनेक्शन और सिलिंडर मिले। इसने मोदी सरकार के पक्ष के बड़ा माहौल बना दिया और सर्वे में लोगों ने भाजपा का नाम लिया।


ये है दूसरी वजह जो है भाजपा के लिए सबसे खास

एग्जिट पोल में भाजपा की कामयाबी दिखने की दूसरी वजह सबसे खास है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत भाजपा ने पुलवामा हमले के बाद लोकसभा चुनाव में राष्ट्रवाद को अचानक से मुद्दा बना दिया। इस मुद्दे के बाद मोदी ने अपनी रैलियों में देश की सेना और राष्ट्र की सुरक्षा के नाम पर भी वोट मांगे। इसी के बाद से बीजेपी के लिए माहौल बना और सर्वे में बीजेपी आगे निकल गई।


ये रही एग्जिट पोल में भाजपा के आगे निकलने की वजह

तीसरी सबसे बड़ी भाजपा के पास एक ऐसा व्यक्तित्व होना है जिसके नाम पर ही बीजेपी चुनाव लड़ रही थी। नरेंद्र मोदी के नाम पर भाजपा ने वोट मांगे जबकि विपक्षी दलों के पास मोदी जैसा कोई चेहरा नहीं दिख रहा। इसका वोटरों पर बहुत प्रभाव पड़ा। जबकि विपक्षी दल पूरी तरह से असमंजस में दिखे। इसी वजह से सर्वे में मोदी के नाम पर वोटरों ने सहमति दिखाई।